शकूर बस्ती में जो कुछ भी हुआ है वह अमानवीय हैं – हाईकोर्ट

0
136

दिल्ली- शकूरबस्ती में रेलवे के द्वारा हटाये गए अतिक्रमण के मामले पर दिल्ली की हाईकोर्ट ने बेहद कड़ी प्रतिक्रिया देते हुए दिल्ली पुलिस, दिल्ली सरकार और रेलवे को आड़े हाथों लिया है और तीनों को ही नोटिस भी थमा दी है I अदालत ने पुलिस को फटकारते हुए कहा है कि लोगों को दर्द न पहुंचाए और रेलवे सम्बंधित मामले पर विस्तृत रिपोर्ट की मांग की है I

अदालत ने कहा है कि ठीक है आपने जो कुछ भी किया है वह गलत नहीं है लेकिन आपके काम करना का ढंग का गलत है I आपको वहाँ से लोगों को हटाते समय मानवीय मूल्यों को ध्यान में रखना चाहिए था I अदालत ने कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष पूर्व मंत्री अजय माकन के द्वारा दायर याचिका पर सुनवाई करते हुए दिल्ली की केजरीवाल सरकार, दिल्ली पुलिस और रेलवे को नोटिस थमाते हुए कहा है कि लोगों को अब किसी भी तरह से परेशान नहीं किया जाना चाहिए और उनके पुनर्वास की जल्द से जल्द व्यवस्था की जानी चाहिए I

कांग्रेस के वरिष्ट नेता अजय माकन की तरफ से दायर याचिका पर सुनवाई करते हुए न्याय मूर्ति मुलीधर और विभु बाखरू की बेंच ने कहा है कि आपको बस्ती को उजाड़ने से पहले इस बात को भी ध्यान में रखना चाहिये था कि ऐसे ठण्ड और मौसम में वह लोग कहा जायेंगे और कैसे रहेंगे I अदालत ने सम्बंधित तीनों पक्षों से पूछा है कि क्या आपने पीछे की गलतियों से अभी तक कुछ नहीं सीखा है I

अदालत ने दिल्ली सरकार से कहा है कि वह रेलमंत्रालय और अपनी तरफ से लोगों को तुरंत ही जरूरत भर की सुविधा मुहैया करवाए जिससे उन्हें मौसम की मार से बचाया जा सके I अदालत ने बस्ती के हटाये जाने के समय बच्ची की मौत पर सवाल भी पूछा जिस पर रेलवे की तरफ से बताया गया कि बच्ची की मौत पहले ही हो चुकी थी I

 

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY

15 + twenty =