ठग से ठग ने जोड़ा नाता: एमएलसी

0
304

photo 02
रायबरेली। भाजपा अध्यक्ष को ठगों का सरदार बताते हुये कांग्रेस एमएलसी दिनेश प्रताप सिंह ने दूसरे ठग के पार्टी में शामिल होने का आरोप लगाया। उन्होंने कांग्रेस अध्यक्ष को ब्राम्हणों का शुभचिंतक तो बताया लेकिन जिले में ब्राम्हण प्रत्याशी न होने को ब्राम्हण नेताओं की अक्षमता करार दिया। यहीं नहीं पत्रकार वार्ता के दौरान वह अपनी ही पार्टी के बछरावां प्रत्याशी को कांग्रेसी मानने को ही तैयार नहीं हुये।

शनिवार को हरचंदपुर विधान सभा क्षेत्र के अटौरा गांव में भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह की जनसभा थी। इस जनसभा में हरचंदपुर से कांग्रेस की दावेदारी कर रही सुधा द्विवेदी एवं उनके पति मनोज द्विवेदी ने कांग्रेस छोड़कर भाजपा की सदस्यता ग्रहण की। इसी विधान सभा क्षेत्र से एमएलसी दिनेश प्रताप सिंह के छोटे भाई राकेश प्रताप सिंह कांग्रेस पार्टी की ओर से चुनाव लड रहे है। एक कांग्रेस नेता के भाजपा में जाने से क्षुब्ध एमएलसी ने रविवार को पत्रकार वार्ता कर अपना पक्ष रखा। उन्होंने कहा कि मनोज द्विवेदी कभी कांग्रेस के ना तो सदस्य थे ना पदाधिकारी थे। वह अपने व्यावसायिक हित के लिये कांग्रेस नेताओं के आगे पीछे लगे रहते थे। वह एक ठग प्रवृत्ति के व्यक्ति हैं और उन्होंने ठगों के सरदार अमित शाह से पार्टी सदस्यता लेकर अपना स्वाभाविक नाता जोड़ लिया है। पत्रकारो ने जब उनसे पूछा कि अगर वह कांग्रेसी नेता नही थे तो प्रियंका गांधी की फ्लीट में उनकी गाड़ी क्यो सम्मिलित की जाती थी, यहीं नहीं लोकसभा चुनाव में उन्हें किस हैसियत से डीह क्षेत्र का प्रभारी बनाया गया था। पत्रकारों के सवाल पर वह बगलें झांकने लगे। एमएलसी ने श्री शाह की सभा में काला झण्डा दिखाने पर पीटे गये बागी भाजपाई संजय पासी के बारे में कहा कि यह भाजपा की दलित विरोधी मानसिकता का प्रतीक है। श्री सिंह का यह भी कहना था कि श्रीमती सोनिया गांधी ब्राम्हणों की सबसे बडी शुभचिंतक है। किंतु जिले में कोई समर्थ ब्राम्हण नेता न होने के कारण यहां किसी ब्राम्हण को टिकट नहीं दिया जा सका। पत्रकारों के एक सवाल के जवाब में कांग्रेस जिलाध्यक्ष वीके शुक्ला ने कहा कि बछरावां से कांग्रेस के टिकट पर चुनाव लड़ रहे सुशील पासी कांग्रेस के सदस्य नहीं हैं। जब उनसे पूछा गया कि पार्टी ने उन्हे टिकट क्यो दिया तो वह टिकट देने का प्रमाण मांगने लगे।
रिपोर्ट – राजेश यादव

हिंदी समाचार- से जुड़े अन्य अपडेट लगातार प्राप्त करने के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज और आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here