मानव संसाधन विकास मंत्री श्रीमती स्‍मृति ईरानी ने एप्रेंटिसशिप प्रशिक्षण के लिए राष्‍ट्रीय वेब पोर्टल की शुरूआत की

0
613

The Union Minister for Human Resource Development, Smt. Smriti Irani addressing at the launch of the National Web Portal for Apprenticeship Training Scheme, implemented by the Ministry of Human Resource Development through Boards of Apprenticeship/Practical Training, in New Delhi on September 10, 2015.

केन्‍द्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री श्रीमती स्‍मृति ईरानी ने ग्रेजुएट, डिप्‍लोमा धारकों और 10+2 पास व्‍यावसायिक शिक्षा प्रमाणपत्र धारकों के लिए राष्‍ट्रीय एप्रेंटिसशिप योजना को बढ़ावा देने के लिए आज नई दिल्‍ली में राष्‍ट्रीय वेब पोर्टल की शुरूआत की। केन्‍द्रीय मंत्री ने राष्‍ट्रीय वेब पोर्टल के लिए एक प्रतीक चिन्‍ह और एक नारा ‘सशक्‍त युवा, समर्थ भारत’ भी जारी किया।

श्रीमती ईरानी ने कहा कि मानव संसाधन विकास मंत्रालय ने मुंबई, चेन्‍नई, कानपुर और कोलकाता स्थित एप्रेंटिस प्रशिक्षण बोर्ड (बीओएटी)/व्‍यावहारिक प्रशिक्षण बोर्ड (बीओपीटी)के जरिये एक वर्ष के लिए एप्रेंटिस प्रशिक्षण योजना लागू की है। ये पोर्टल सेवाओं को दरवाजे तक पहुंचाने, प्रक्रिया को सरल और कारगर बनाने तथा छात्रों का समय बचाने में मदद करेगा। उन्‍होंने कहा कि यह पोर्टल आंतरिक शिकायत समिति तंत्र के जरिए कार्य स्‍थल पर महिलाओं को सुरक्षा प्रदान करेगा और एप्रेंटिस की शिकायतों को दूर करेगा। उन्‍होंने कहा कि पोर्टल छात्रों और उद्योग के बीच व्‍यवहार्य साझेदारी कायम करेगा। केन्‍द्रीय मंत्री ने अखिल भारतीय तकनीकी शिक्षा परिषद (एआईसीटीई) और राष्‍ट्रीय कौशल विकास निगम (एनएसडीसी) से कहा कि वे मिलकर आगे आएं ताकि ग्‍यारहवीं और बारहवीं कक्षा के छात्रों तक पहुंच बढ़ाई जा सके।

क्षेत्रीय बीओएटी/बीओपीटी के वेब पोर्टलों को जोड़ दिया गया है और क्षेत्रीय बीओएटी/बीओपीटी के सभी आंकड़े राष्‍ट्रीय वेब पोर्टल को स्‍थानांतरित कर दिए गए हैं। ऐसे छात्रों की जरूरतों को पूरा करने के लिए केन्‍द्रीय स्‍तर पर विश्‍वसनीय आंकड़े प्राप्‍त करने में खालीपन है जो एप्रेंटिसशिप प्रशिक्षण करना चाहते हैं। राष्‍ट्रीय वेब पोर्टल अब देश भर के छात्रों, प्रतिष्‍ठानों और तकनीकी संस्‍थाओं सहित सभी साझेदारों के साथ संपर्क साधेगा ताकि ई-शासन के जरिये पारदर्शी प्रशासन मिल सके। यह बहुभाषीय मंच है जिसमें मराठी, बंगला, तमिल और हिन्‍दी भाषा का इस्‍तेमाल किया जा रहा है।

उच्‍च शिक्षा विभाग में सचिव श्री वी. एस. ओबराय और स्‍कूल शिक्षा तथा साक्षरता विभाग में सचिव श्री एस. सी. खूंटिया अन्‍य गणमान्‍य व्‍यक्तियों तथा मंत्रालय के वरिष्‍ठ अधि‍कारियों के साथ समारोह में शामिल हुए।

 

Source _ PIB

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY

five × three =