खुलासा- पाकिस्तान के परमाणु हथियार छीन सकता है अमेरिका

1
101194

pakistan-nuclear-missile_s640x427

दिल्ली- दुनिया भर के आतंकियों का गढ़ माने जाने वाले इस देश के ऊपर से पूरी दुनिया का भरोषा धीरे-धीरे उठ चुका है | पाकिस्तान की नापाक चालें अब दुनिया की समझ में आने लगी है और दुनिया को अब यह भी समझ आ गया है कि पाकिस्तान में लोकतंत्र मात्र नाम का ही है वहां तो वास्तव में या तो सेना का या फिर आतंकियों का ही राज चलता है |

अस्थिर पाकिस्तान से परमाणु हथियार छीन लेगा अमेरिका –
अमेरिका हमेशा से ही परमाणु हथियारों को लेकर बेहद ही सेंसटिव रहा है | अमेरिका ने हमेशा ही पाकिस्तान को आगाह किया है कि वह (पाकिस्तान) अपने परमाणु हथियारों के जखीरे की सुरक्षा को बेहद मजबूत करें | अमेरिका को इस बात का डर है कि कहीं ऐसा न हो कि पाकिस्तान के परमाणु हथियार गलत हाथों में चले जाय | क्योंकि अगर परमाणु हथियार किसी भी आतंकी संगठन के हाथ लग गए तो इनका प्रयोग जहां भी हो जायेगा वह देश बर्बाद हो जाएगा ऐसे में परमाणु युद्ध लगभग तय ही माना जाएगा | परमाणु युद्ध अगर हुआ तो यह निश्चित है कि भयंकर तबाही आएगी |

कई बार हो चुके है पाकिस्तान के परमाणु बेस पर हमले –
पाकिस्तान में परमाणु हथियारों की सुरक्षा को लेकर बेहद गहरे सवाल उठते रहे है | वैश्विक स्तर पर इस बात की भी काफी चर्चा होती रहती है कि जिस तरह से पाकिस्तान में अस्थिरता का माहौल बढ़ता जा रहा है ऐसा न हो कि किसी दिन परमाणु हथियारों पर किसी आतंकी संगठन का कब्ज़ा हो जाय | वैश्विक नेताओं का यह मानना भी गलत नहीं है क्योंकि पाकिस्तान स्थित परमाणु केन्द्रों पर कई बार हमले भी हो चुके है |

‘स्नैच एंड ग्रैब’ प्लान के तहत छीने जायेंगे परमाणु हथियार –
पाकिस्तान के ऐबटाबाद में ओसामा बिन लादेन को मारने के लिए की गई कमांडो कार्रवाई से ये साबित हो चुका है कि अपने हितों की रक्षा के लिए अमेरिका किस हद तक जा सकता है | लिहाजा संकट के क्षणों में पाकिस्तान के एटमी जखीरे पर कब्जे की योजना मौजूद है, इससे इंकार भी नहीं किया जा सकता है | साल 2009 और 2011 में इस योजना से तब पर्दा उठ गया था जब अमेरिकी मीडिया ने बताया कि एक स्पेशल ग्रुप है जो एटमी जखीरे पर कब्जे की योजना पर लंबे वक्त से काम कर रहा है |

अमेरिका ने यह पूरी योजना एक सैनिक अभियान चलाकर पूरी करने की कोशिश में है | अगर मीडिया में आई खबरों की माने तो अस्थिरता के हालात में अमेरिका एक फौजी ऑपरेशन चलाकर बहुत तेजी से पाकिस्तान के सभी परमाणु ठिकानों पर हमला करके परमाणु हथियारों को या फिर उनके ट्रिगर को अपने कब्जे में ले लेगा | अब जिस तरह से अमेरिका में राष्ट्रपति पद के उम्मीदवार डोनाल्ड ट्रम्प बार-बार इस पूरे मामले में भारत की मदद की बात करते है उससे तो यही लगता है कि आने वाले समय में होने वाले इस ऑपरेशन में अमेरिका और भारत साथ-साथ ही पाकिस्तान पर धावा बोलेंगे |

हिंदी समाचार- से जुड़े अन्य अपडेट लगातार प्राप्त करने के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज और आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं |

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here