मुश्किल में पड़ सकते है गोसाईगंज एस.ओ., कोर्ट की अवमानना का लगा है आरोप

0
133

सुलतानपुर- अदालत के आदेश की अवमानना करने पर स्पेशल जज एस.सी.-एस.टी. एक्ट ने गोसाईगंज थानाध्यक्ष पर कड़ा रूख अपनाया है। स्पेशल जज जमाल मसूद अब्बासी ने मंगलवार के लिए एस.ओ. गोसाईगंज के खिलाफ अनुशासनात्मक कार्यवाही की चेतावनी देते हुए व्यक्तिगत रूप से तलब किया है।

क्या है पूरा मामला-
मामला गोसाईगंज थानाक्षेत्र के वैदहा गांव का है। जहां के रहने वाले दलित महेन्द्र प्रताप कोरी ने स्पेशल जज एससी-एसटी एक्ट की अदालत में 156(3)दप्रसं की अर्जी दी थी। जिसमें आरोप हैकि वह गांव का कोटेदार है, बीते 6 अगस्त को गांव के ही आरोपी श्रीपाल, जयपाल, बृहस्पति, गजेन्द्र तथा रवी मौर्या बिना राशन कार्ड के ही खाद्यान्न देने की मांग करने लगे, जिस पर अभियोगी ने मना कर दिया।

अगले दिन आरोपियों ने मिलकर उसके पिता को मारापीटा एवं बीच-बचाव में दौड़ने पर अभियोगी व उसकी मां को भी जातिसूचक अपशब्द कहते हुए मारा पीटा, जिसमें उन्हें काफी चोटें आई। चोटहिलो का डीएम के आदेश पर मेडिकल हुआ। इस मामले में पुलिस के जरिये कार्रवाई न होने पर अदालत ने प्रकरण पर संज्ञान लेते हुए बीते 19 दिसम्बर को मुकदमा दर्ज कर मामले की विवेचना के लिए आदेश पारित किया था, लेकिन थाने की पुलिस ने कोर्ट के आदेश के एक माह बाद भी एफआईआर तक नहीं दर्ज किया, विवेचना की बात तो दूर ही है।

जिसको लेकर अभियोगी महेन्द्र की तरफ से अदालत में प्रगति आख्या तलब करने के लिए अर्जी पड़ी। जिस पर स्पेशल जज जमाल मसूद अब्बासी ने बीते 20 जनवरी को सुनवाई करते हुए 23 जनवरी के लिए एसओ गोसाईगंज को मय पैरोकार तलब किया था। सोमवार को पैरोकार तो अदालत में पेश हुए, लेकिन थानाध्यक्ष गैरहाजिर रहे। पैरोकार ने कोर्ट के जरिये पूछे जाने पर अब तक एफआईआर न दर्ज होने की पुष्टि की।

स्पेशल जज जमाल मसूद अब्बासी ने कोर्ट के आदेश की अवमानना पर मंगलवार के लिए थानाध्यक्ष को 11 बजे के लिए व्यक्तिगत रूप से तलब किया है और उनकी कार्यशैली को लेकर कड़ी कार्यवाही की चेतावनी भी दी है।
रिपोर्ट- संतोष कुमार
हिंदी समाचार- से जुड़े अन्य अपडेट लगातार प्राप्त करने के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज और आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं |

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY