जिला कारागार में सोबरन की रही कड़ी निगरानी

0
114

मैनपुरी। फांसी की सजा सुनाए जाने के बाद सोबरन सिंह को जिला कारागार में कड़ी सुरक्षा व्यवस्था के बीच रखा गया है। ससुराल बाले जैसी करनी वैसी भरनी की बात कहकर वह कोर्ट के निर्णय पर खुशी जता रहे है।
थाना करहल के रूपपुर निवासी सोबरन सिंह प्रजापति को पत्नी ममता तथा बेटी सपना की हत्या करने के आरोप में बुधवार को अपर जिला जज एवं सत्र न्यायाधीश (प्रथम)गुरूप्रीत सिंह बाबा ने फांसी की सजा सुनाई है। बुधवार की शाम वह कोर्ट से जब जेेल पहुचा तो बेहद शांत नजर आया। सीधे बैरक में जाकर वह लेट गया। फांसी की सजा सुनाए जाने के बाद जेल नियमों के मुताबिक उसको कड़ी सुरक्षा व्यवस्था में रखा गया है। वहीं सोबरन के भाई पन्नालाल कई सालों से अलग मकान बनाकर रहते है। उनका अपने भाई सोबरन से कोई बास्ता नहीं है। सोबरन को फांसी की सजा होने की जानकारी उनको गुरूवार की सुबह गांव वालों ने अखबार में छपी खबर के बाद दी। उनका कहना था सोबरन ने शराब पीने की आदत के चलते सब कुछ बर्बाद कर दिया। पत्नी और एक पुत्री की हत्या कर दी। छोटे चार बच्चों को भटका दिया है। घटना के बाद से बच्चें अपनी ननिहाल में ही रह रहे है।
रिपोर्ट – दीपक शर्मा

हिंदी समाचार- से जुड़े अन्य अपडेट लगातार प्राप्त करने के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज और आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here