करोडों की लागत से बने सोलर पम्प ग्रामीणों के लिये साबित हो रहे सफेद हाथी

0
139

लालगंज, रायबरेली। लालगंज विकास खण्ड के मदुरी गांव मे करोडों की लागत से लगे सौर ऊर्जा चालित सोलर पम्प अपने स्थापना काल से खराब पड़े है।नौ सोलर पम्पों मे से चार पम्प तो पूरी तरह से बन्द पड़े है।
ग्रामीणों की माने तो उनकी टोटियों से आज तक पानी की बूंद नही गिरी है।जानकारी के अनुसार मदुरी ग्राम पंचायत मे पानी की भारी किल्लत व खराब पानी के चलते सरकार के द्वारा नौ सोलर पम्प डेढ वर्ष पहले लगवाये गये थे,जिनमे प्राथमिक विद्यालय मदुरी,अमित कुशवाहा,वंश बहादुर मैनेजर व सज्जन मिश्रा के दरवाजे लगे सोलर पम्प गांव के लिये सफेद हाथी साबित हो रहे है।लोगों का कहना है कि ठेकेदार व इन्जीनियरों की मिली भगत व खाऊ कमाऊ नीति के चलते सरकार की योजना फ्लाप साबित हुयी है।प्राथमिक स्कूल मदुरी के हेडमास्टर हरीप्रसाद व सहायक अध्यापक अमित कुशवाहा ने बताया कि स्थापित होने के समय से ही स्कूल का सोलर पम्प बिगडा पडा है।ठेकेदार के द्वारा मोटर,केबिल,पाइप व स्टार्टर गायब कर दिया गया है।कई बार मौखिक शिकायत के बावजूद ठेकेदार के द्वारा सोलर पम्प ठीक नही किया जा रहा है।सोलर पम्प के न चालू होने से स्कूल के छात्र छात्राओं को पीने के पानी की भारी किल्लत का सामना करना पड रहा है।गांव के रामनरेश यादव,चन्द्रशेखर शरण सिंह आदि ने सोलर पम्पों को ठीक कर पानी सप्लाई दुरूस्त करने की मांग की है।
हिंदी समाचार- से जुड़े अन्य अपडेट लगातार प्राप्त करने के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज और आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं |

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY