केहका समाधान शिविर में 1158 मांग/समस्याओं का हुआ समाधान

0
226

 

बेमेतरा(छतीसगढ़ ब्यूरो)- लोक सुराज अभियान 2017 के अंतर्गत जिले के साजा विकासखंड के ग्राम केहका में आयोजित समाधान शिविर ग्रामवासियों के लिए सौगात लेकर आई। यहां के नन्दूलाल, रामगोपाल, गणेश, हीरावन, धनसाय, रामआशीष, सहेबिन, सन्तू, ओमेश, दशरथ, संतोष, ओमप्रकाश, सतानन्द, धनुक सहित 30 लोगों को मुख्यमंत्री आबादी पट्टा से लाभान्वित किया गया। समाधान शिविर के माध्यम से ग्राम केहका के उक्त 30 लोगों ने अपने काबिज जमीन का मालिकाना हक पाने में सफलता पाई है। इसके लिए उन्होंने अभियान के प्रथम चरण में ग्राम पंचायत में आवेदन प्रस्तुत किए थे। उनके आवेदन पर राजस्व विभाग द्वारा परीक्षण उपरांत आबादी पट्टा दिलाया गया। शिविर में दो दिव्यांगजनों क्रमशः श्री टेकराम वर्मा ग्राम चोरभट्ठी और कु. मोहिनी ग्राम ढाप प्रत्येक को एक-एक ट्राॅयसायकल प्रदान कर लाभान्वित किया गया। कृषि विभाग द्वारा ग्राम बिरमपुर के कृषक फरजन खान और श्री मोजी को 50 प्रतिशत अनुदान पर बैटरी चलित स्पे्रयर प्रदान की गई। वहीं शिक्षा विभाग द्वारा शाला प्रवेशोत्सव के तहत शासकीय प्राथमिक एवं माध्यमिक शाला के 10 नवप्रवेशी बच्चों को निःशुल्क पाठ्य पुस्तक एवं गणवेश वितरित कर शाला प्रवेश कराया गया।

समाधान शिविर में संसदीय सचिव एवं क्षेत्रीय विधायक श्री लाभचंद बाफना भी सम्मिलित हुए। उन्होंने अपने कर-कमलों से दिव्यांगों को ट्राॅयसायकल, किसानों को कृषियंत्र, ग्राम केहका के 30 लोगों को मुख्यमंत्री आबादी पट्टा प्रदान किया। कलेक्टर सुश्री रीता शांडिल्य और पुलिस अधीक्षक श्री टी. एक्का की मौजूदगी में अधिकारियों ने विभाग को प्राप्त लोगों की समस्याओं के समाधान के संबंध में उन्हें अवगत कराया। शिविर को संबोधित करते हुए संसदीय सचिव श्री लाभचंद बाफना ने कहा कि समस्या है तो उसका समाधान भी है। लोगों की समस्याओं के समाधान हेतु इस वर्ष प्रदेश के मुखिया मुख्यमंत्री डाॅ. रमन सिंह जी की मंशानुसार लोक सुराज अभियान में लोगों की समस्याओं के समाधान को लक्ष्य बनाकर इस वर्ष इस अभियान को “लक्ष्य समाधान का” का स्वरूप दिया गया है। उन्होंने कहा कि कोई ऐसी समस्या नहीं जिसका समाधान न हो। चुनौती से भागना उनका काम है जो लोकतंत्र की रक्षा नहीं कर सकते। संसदीय सचिव श्री बाफना ने विधानसभा क्षेत्र साजा में सड़क, पानी, बिजली, शिक्षा और स्वास्थ्य के क्षेत्र में हुए उपलिब्धयों तथा सिंचाई संसाधनों के विस्तार पर प्रकाश डालते हुए लोगों को भरोसा दिलाया कि क्षेत्र में अब शौचालय निर्माण के मानदेय भुगतान, आबादी पट्टा, प्रधानमंत्री आवास योजना, मनरेगा मजदूरी भुगतान, नये राशन कार्ड व नाम जोड़ाने, एकलबत्ती कनेक्शन पर कहीं कोई समस्याएं नहीं होगी। उन्होंने बताया कि केहका कलस्टर के अंतर्गत 120 हितग्राहियों का चयन प्रधानमंत्री आवास योजना के लिए किया गया है। वहीं 101 हितग्राहियों का नाम बी.पी.एल. सूची में जोड़ने शासन को प्रस्तावित किया गया है। उन्होंने क्षेत्र में महिला कमांडो का जिक्र करते हुए बताया कि सामाजिक बुराईयों के खिलाफ महिला कमांडो को शासन द्वारा और अधिक सशक्त बनाया जाएगा। साथ ही इन कमांडो को हरसंभव सहयोग भी शासन स्तर से प्रदान किया जायेगा। संसदीय सचिव श्री बाफना ने लोगों से क्षेत्र के विकास हेतु सहयोग की अपील की।

विकासखंड साजा के अंतर्गत आयोजित इस चौथे समाधान शिविर में कलस्टर में शामिल ग्राम पंचायत बीजागोड़, बोरतरा, ढाप, केहका, कोंगियाकला, मासुलगोंदी, नवागांवखुर्द, पिपरिया, बिरमपुर और खैरी से कुल 1158 मांग/समस्या संबंधी आवेदन प्राप्त हुए थे। जिसमें सर्वाधिक पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग से 855 तथा अन्य विभागों से संबंधित 303 आवेदन थे। विभागीय अधिकारियों द्वारा उक्त आवेदनों का समाधान कर संबंधित आवेदकों को अवगत कराया गया। समाधान शिविर में जिला पंचायत की सी.ई.ओ. श्रीमति तुलिका प्रजापति, एस.डी.एम. श्री के.एस. मंडावी, तहसीलदार श्री डी.आर. सिदार, जिला शिक्षा अधिकारी श्री ए.के. भार्गव, ई.पी.एच.ई. श्री समीर शर्मा, उप संचालक पशु चिकित्सा सेवायें डाॅ. ए.के. सिंह, सहायक आयुक्त आदिवासी विकास श्री डी.आर. भगत, खेल अधिकारी श्री प्रवेश जोशी तथा जनपद सी.ई.ओ. श्री कुमार सिंह धृतलहरे सहित समस्त विभाग के अधिकारी तथा ग्राम पंचायत केहका की सरपंच श्रीमती मुन्नी बाई एवं अन्य पंचायत प्रतिनिधिगण और बड़ी संख्या में लोग उपस्थित थे।

रिपोर्ट- संजू जैन/हरदीप छाबड़ा

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY