पुलिस और माओवादियों की धमकी से भी नहीं डरी, माओवादियों के गढ़ में घुसकर फहरा दिया तिरंगा…

0
829

Image Source - NDTV
Image Source – NDTV

छत्तीसगढ़ के दंतेवाड़ा जिले की आदिवासी कार्यकर्त्ता सोनी सोरी ने पुलिस और नक्सलियों की चेतावनी के बाद भी देश की आजादी का जश्न मनाया और मोवादियोंब के गढ़ में तिरंगा फहरा दिया, सोनी ने माओवादियों और पुलिस की परवाह ना करते हुए अपने कुछ कार्यकर्ताओं के साथ गोमपाड़ पहुंची और झंडारोहण किया |

सोनी सोरी छत्तीसगढ़ के आदिवासीयों के लिए एक समाजसेवी के तौर पर काम करती है और नकसलवाद के खिलाफ तो आवाज तो उठती ही हैं साथ ही सरकार द्वारा आदिवासियों पर किये जा रहे अत्याचारों के खिलाफ भी आवाज़ उठती हैं और इसी के चलते उन्हें कई बार पुलिस के गुस्से का शिकार भी होना पड़ा है | हाल ही के दिनों में गोमपाड़ में हुई असंवैधानिक घटनाओं के खिलाफ भी सोनी सोरी ने आवाज़ उठाई थी |

नक्सलियों द्वारा भारतीय संविधान और लोकतंत्र में भरोसा ना करने की सोंच को चुनौती देने के लिए सोनी सोरी ने गोमपाड़ जाकर झंडा फहराने का फैसला लिया था और उन्होंने बिना किसी से डरे सफलता[पूर्वक झंडारोहण भी किया |

सोनी सोरी 2014 के लोकसभा चुनावों में आम आदमी पार्टी की ओर से चुनाव भी लड़ चुकी है पर इस चुनाव में उन्हें हार का सामना करना पड़ा, सोनी सोरी पिछले काफी समय से छत्तीसगढ़ के आदिवासियों के लिए आवाज़ उठा रही हैं |

हिंदी समाचार- से जुड़े अन्य अपडेट लगातार प्राप्त करने के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज और आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here