सूनी रह गयी मांग, पुलिस बनी हैवान

0
82

हसनगंज, उन्नाव(ब्यूरो)- हत्या की गुत्थी सुलझाने में पुलिस नाकाम, पुलिस की पूछताछ जारी है लेकिन अभी तक कोई सुराग नही मिला, आपको बता दें की पुलिस की कार्यवाही से एक लड़की का वैवाहिक जीवन शुरू होने से पहले ही ख़त्म हो गया ।

2मई  को मोहान निवासी सुजीत यादव पुत्र रामकुमार की लाश उसी के बाग़ में मिली थी, जब की सुजीत 1 मई की  रात 9 बजे से गायब था | सुजीत की लाश के पास जहर की पुड़िया व् बियर के खाली केन व पानी की बोतल रख कर घटना को आत्महत्या का रूप  देने का प्रयास किया था| लेकिन परिजनों की तहरीर पर  हत्या कर शव फेंके जाने व् आत्महत्या का रूप देने की साजिश बता कर अज्ञात लोगो के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया था |

जिसका आज चौथा दिन है लेकिन पुलिस को कोई अहम सुराग नही मिला है, जब की पोस्टमार्टम की रिपोर्ट भी स्पस्ट नही है और बिसरा को सुरक्षित कर लिया गया है परिजन रोज थाने के चक्कर लगा रहे है कोतवाली पुलिस ने भी मोहान कसबे से एक लड़की व् एक लड़के को पूछताछ के लिए थाने ले कर आई थी पूछताछ कर उनको छोड़ दिया गया है

लेकिन उनकी इस पूछताछ के चलते एक लड़की का वैवाहिक जीवन आरम्भ होने से पहले ही समाप्त हो गया, जी हां पुलिस द्वारा जिस लड़की को पुछताछ के लिए लाया गया था 4 मई को उसकी बारात लखनऊ के चिनहट से आनी थी  लेकिन सूत्रों की माने तो  तो उस लड़की का मोबाईल न० लड़के के फोन से मिला है|

जिसके आधार पर co ने लड़की को पूछताछ के लिए थाने बुलवाया था|  जिसकी खबर लड़की के ससुराल पक्ष जहां उसकी शादी होनी थी वहां चली गई जिससे लड़का पक्ष के लोगो ने लड़की के चरित्र को दागदार बताते हुए बारात लाने से इंकार कर दिया है| जिससे लड़की के घर में कोहरा मचा हुआ है सारे रिश्तेदारी में शादी के कार्ड बाँट चुके है, टेंट का पैसा दिया जा चूका है, और अकस्मात ऐसी घटना घटित हुई की वैवाहिक जीवन में प्रवेश करने से पहले ही चरित्र पर सवाल उठने के कारण बारात ही न आ सकी |

4 मई को लड़की के दरवाजे पर रिश्तेदारों का आना शुरू हो गया जहां न तो कोई  बारात आनी थी और ना ही कोई तयारी थी| क्यूकि लड़के पक्ष के लोगो ने बारात लाने से इंकार कर दिया था|

लड़की का भाई बहन की शादी टूटने की खबर से सदमे में आ गया है और माँ बाप की आँखों के आंसू रुकने का नाम नही ले रहे है| लड़की की माँ मालती रो रो कर पुलिस को ही दोषी ठहरा रही, कहती है अगर पुछताछ ही करनी थी, तो गुपचुप तरीके से बुला लेते हम खुद लेकर आते लेकिन घर पर पुलिस को भेज कर मेरी बेटी को थाने बुलवाकर कर मेरी बेटी की शादी तुड़वा दी|

मेरी बेटी की जिंदगी बर्बाद कर दी इन पुलिस वालों ने , लड़की के परिजनों ने बताया कि वो शुक्रवार को लड़के पक्ष से मिलने गए थे उनको मनाने की लाख कोशिश की लेकिन उन्होंने मना कर दिया| और किसी भी तरह स मानने से इंकार कर दिया है|

लड़की की छोटी बहन ने बताया कि जब चौकी पुलिस बहन को बुलाने आई तब उसने उनको बताया था कि बहन की कल बारात आने वाली है और वो पार्लर गई हुई है जब की क्षेत्राधिकारी हसनगंज स्वतंत्र सिंह ने बताया कि मुझे मालूम नही था कि लड़की की बारात आने वाली है|

रिपोर्ट-राहुल राठौर

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here