जनपद में सपा का हुआ सफाया

0
93

भदोही। जनपद की तीनों विधान सभा सीटों पर सपा का सफाया हो गया। पिछले विधान सभा चुनाव में सपा ने जिले की तीनों सीटों पर कामयाबी हासिल की थी। इस कामयाबी को बरकरार रखना सपा के लिए चुनौती थी,जिसमें वह फिसड्डïी साबित हुई। ज्ञानपुर सीट पर सपा प्रत्याशी चौथे स्थान पर रहा, तो सुरक्षित औराई सीट पर सपा प्रत्याशी मधुबाला पासी को करारी हार मिली। एक मात्र सीट भदोही पर ही सपा प्रत्याशी विधायक जाहिद बेग भाजपा को कड़ी टक्कर दे पाये। ज्ञानपुर विधायक विजय मिश्र ने जनपद में सपा केे सफाया का संकल्प लिया था। उनके संकल्प के अनुरूप ही जनपद का चुनाव परिणाम रहा।

भाजपा के जनाधार में अभूतपूर्व हुई बढोत्तरी-

भदोही जनपद की तीनों सीटों पर भाजपा ने अपने जनाधार में काफी बढोत्तरी कर ली। पिछले चुनाव में जनपद की ज्ञानपुर व औराई सीट पर भाजपा प्रत्याशियों की जमानत जब्त हो गई थी। इन सीटों पर भाजपा दस हजार मत भी हासिल नहीं कर सकी थी। भदोही सीट पर लगभग 26 हजार मत पार्टी को मिला था। इस बार के चुनाव में भाजपा ने जहां ज्ञानपुर व औराई विधान सभा सीट को जीत लिया, वहीं ज्ञानपुर विधान सभा सीट पर भाजपा दूसरे न बर पर रही

मुख्यमंत्री के बयान को बनाया हथियार-

विधान सभा चुनाव के दौरान ज्ञानपुर नगर में चुनावी सभा को संबोधित करते हुए मु यमंत्री अखिलेश यादव ने विधायक विजय मिश्र पर जमकर प्रहार किया था। मु यमंत्री ने कहा था कि सूनने में आ रहा है कि पैसा खुब बंट रहा है, पैसा ले लो, थाली में भोजन मिल रहा है, भोजन कर लो, थाली फेंक देना, वोट साइकिल को दे देना। विजय मिश्र ने इस बयान को हथियार केरूप में प्रयोग करते हुए अपनी विशाल ज्ञानपुर में हुई चुनावी सभा में जमकर मु यमंत्री पर हमला बोला। इसके अलावा उन्होंने अन्य चुनावी सभाओं व घर-घार जाकर मु यमंत्री के ऐसे बयान को मतदाताओं के सामने रखा। कहा कि प्रदेश की सबसे बड़ी गद्दी पर बैठा व्यक्ति ऐसा बयान दे रहा है। इस बयान को चुनाव आयोग ने भी संज्ञान में लेते हुए मु यमंत्री को जबाब देने के लिए कहा है। मतदाताओं ने मु यमंत्री के बयान को गलत दर्शाते हुए विजय मिश्र को लगातार चौथी बार विजय दिला दी।

विधायक विजय मिश्र का टिकट कटने से सपा में हुई बगावत-

भदोही।  ज्ञानपुर विधायक विजय मिश्र का सपा से टिकट कटने पर सत्ताधारी दल में बड़ी बगावत हो गई। पार्टी के दो तिहाई से अधिक पदाधिकारियों ने दल से पल्ला झाड़ लिया, यही नहीं जिला पंचायत अध्यक्ष समेत तीन ब्लाक प्रमुख व दो सौ से अधिक ग्राम प्रधान व बीडीसी तथा कई नगर निकायों के अध्यक्षों ने भी सपा से नाता तोड़ लिया। इसके अलावा सपा जिला महासचिव, विस अध्यक्ष समेत फ्रंटल संगठनों के पदाधिकारियों ने भी सपा से इस्तीफा दे दिया। बाद में सपा ने विधायक की पत्नी एमएलसी रामलली मिश्रा को भी पार्टी से बाहर कर दिया। साथ ही साथ जिलाध्यक्ष को छोड़कर भदोही जनपद की पूरी पार्र्टी इकाई को ही भंग कर दिया। जिससे जनपद में सपा काफी कमजोर हो गई। पिछले चुनाव में विधायक के बल पर ही सपा ने जिले की तीनों सीटों पर कब्जा किया था। इस बार विधायक के पार्टी में रहने से सपा को जिले में करारी हार मिली। उसे तीनों सीटों से हाथ धोना पड़ा।

विकास को दूंगा और गति: विजय मिश्र-

भदोही। ज्ञानपुर विधान सभा सीट से लगातार चौथी बार विधायक बनने पर मतदाताओं का आभार जताते हुए विधायक विजय मिश्र ने कहा कि मेरी यह जीत क्षेत्रवासियों के असीम प्यार, स्नेह व आर्शीवाद का प्रतिफल है। क्षेत्रवासियों ने विधायक नहीं अपना चौकी दार चुना है। मैं चौकीदार बनकर लंबे समय से जनता का सेवा कर रहा हूं, आगे भी करता रहुंगा। उन्होंने कहा कि विकास कार्य को और गति दूंगा। तीन महीने में ज्ञानपुर विधान सभा क्षेत्र का काया पलट हो जायेगा। जनता ने मेरे द्वारा किये गये विकास को देखते हुए पुन: मुझे जिम्मेदारी सौंपी है। इस जिम्मेदारी पर खरा उतरते हुए मैं क्षेत्र को माडल क्षेत्र बना दूंगा।

कसम पूरी होने पर विधायक ने खोली चुंडी- 

भदोही। विधायक विजय मिश्र ने सपा को नेस्तनाबूद करने की कसम खायी थी। कसम पूरी होने तक उन्होंने अपनी चुडी को बांधकर रखी थी। शनिवार को मतगणना के बाद जनपद समेतपूरे प्रदेश में सपा का सफाया होने के बाद उन्होंने अपनी चुंडी को खोल दिया। विधायक ने कहा कि मैने सपा के सफाये के लिए चुंडी को बांध रखी थी। मां भगवती की कृपा से मेरी कसम अब पूरी हो गई। इस लिए मैं चुंडी खोल रहा हूं। विधायक ने कहा कि जिस पार्टी के लिए मैने अपना जीवन दे दिया था, उस पार्टी ने मेरा अपमान किया। मां भगवती की कृपा व क्षेत्रवासियों के आर्शीवाद से फिर  मैं सेवक चुना गया।

रिपोर्ट- राजमणि पाण्ड़ेय
हिंदी समाचार- से जुड़े अन्य अपडेट लगातार प्राप्त करने के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज और आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here