श्री श्री रविशंकर के कार्यक्रम को लेकर संसद में हंगामा, दिल्ली पुलिस ने भी जताई भगदड़ की आशंका

0
310

दिल्ली- आर्ट ऑफ़ लिविंग के संस्थापक और मशहूर अध्यात्मिक गुरु श्री श्री रवि शंकर का दिल्ली में यमुना किनारे तीन दिवसीय कार्यक्रम मुसीबत में फंसता हुआ नजर आ रहा है I आज सुबह से ही यह मुद्दा संसद के भीतर भी अपनी चरम पर है, विपक्ष इस मुद्दे को लेकर सरकार के ऊपर लगातार हमले बोल रही है I विपक्ष के सांसदों ने इस मुद्दे को एक गंभीर मुद्दा बताते हुए तुरंत ही सदन में इस मुद्दे पर चर्चा कराये जाने की मांग की I हालाँकि सरकार की तरफ से मुख्तार अब्बास नकवी ने श्री श्री रविशंकर का बचाव किया है I आपको यह भी बताते है कि इस मामले में एनजीटी भी सुनवाई कर रही है, आज एनजीटी की तरफ से भी इस मामले में फैसला आने वाला है जो कि एक अहम् बात होगी I

इतने सारे राजनैतिक गतिरोधों के दूसरी तरफ श्री श्री रविशंकर ने ट्वीट करके अपील की है कि कृपया इस मुद्दे को राजनैतिक मुद्दा न बनाया जाय I

उधर संसद में विपक्ष ने इसी मामले पर हंगामा करते हुए सरकार के ऊपर आरोप लगाया है कि सरकार इस तरह के कार्यक्रम को मंजूरी देकर यमुना को खतरे में डाल रही है I उधर दूसरी तरफ सरकार की तरफ मुख्तार अब्बास नकवी ने कहा है कि इस कार्यक्रम क मंजूरी देने के लिए किसी भी कानून को दरकिनार नहीं किया गया है I उन्होंने यह भी कहा है कि किसी भी कानून का उलंग्घन भी नहीं किया गया है I इस कार्यक्रम को मंजूरी सभी नियम और कायदों को ध्यान में रखते हुए दी गयी है I

उधर दिल्ली पुलिस को इस बात पर शक है कि इस कार्यक्रम में तक़रीबन 35 लाख लोग दिल्ली आ सकते है और इस कार्यक्रम में शामिल हो सकते है और कार्यक्रम के दौरान भगदड़ भी मच सकती है I दूसरी तरफ सरकार के ऊपर हमला बोलते हुए लेफ्ट के नेता सीता राम येचुरी एयर शरद यादव ने कहा है कि दिल्ली में युमना के किनारे कार्यक्रम को मंजूरी देने पर सवाल किया। येचुरी ने कहा कि एक निजी संस्था के लिए आर्मी को कैसे काम पर लगाया जा सकता है। सरकार की ओर से मुख्तार अब्बास नकवी ने कहा कि श्रीश्री की संस्था खुद एन्वायरमेंट फ्रेंडली है। इस बीच दिल्ली पुलिस ने कार्यक्रम को लेकर अपनी चिंता जाहिर की है। दिल्ली पुलिस को आयोजन के दौरान उम्मीद से ज्यादा भीड़ होने की आशंका है। कार्यक्रम 11 से 13 मार्च को है लेकिन दिल्ली पुलिस को अबतक हैंडोवर नहीं मिला है।

हिंदी समाचार- से जुड़े अन्य अपडेट लगातार प्राप्त करने के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज और आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here