ग्रामों में शौचालय बनाने में मानकों की अनदेखी की गई, चारो तरफ है अव्यवस्था का माहौल- जिलाधिकारी

0
190
निरीक्षण करते हुए जिलाधिकारी

मैनपुरी (ब्यूरो)- ग्रामों के भ्रमण के दौरान जो हकीकत सामने आ रही है वह चैकाने वाली है, ग्रामों में शौचालय बनाने में मानकों की अनदेखी की गई है, अधिकांश शौचालयों का प्रयोग नहीं हो रहा है, सफाई कर्मी गांव जाता ही नहीं माह-दो माह में एक बार गांव जाकर औपचारिकता कर रहा है, अधिंकांश ग्रामों में कटिया डालकर विजली की चोरी की जा रही है, विभाग के अधिकारी,कर्मचारी कोई काम नहीं कर रहे है।
अधिकारियों को जानकारी ही नहीं कि ग्राम स्तरीय कर्मचारियों द्वारा क्षेत्र में क्या काम किया जा रहा है, मानकों की धड़ल्ले से अनदेखी हो रही है। ग्राम प्रधान, सेके्रटरी, लेखपाल अपने फायदे के लिये योजनाओं का बेहतर ढंग से क्रियान्वयन नहीं होने दे रहे है।

गांव में खुले में शौच की प्रथा है, जबकि सरकार खुले में शौच की प्रथा को समाप्त करने के लिए प्रयासरत है। गांव के अधिकांश तालाबों, खाद के गढ्ढों पर अनाधिकृत कब्जे है, बार-बार निर्देशों के बावजूद इस पर कोई कार्यवाही नहीं हो रही है। अधिकारी, कर्मचारी कार्यशैली सुधारे और काम करें यदि 10 दिन में स्थिति न सुधरी तो वैधानिक कार्यवाही हेागी।

उक्त निर्देश जिलाधिकारी यशवन्त राव ने नगला राया, फैजपुर, मानिकपुर, नगला गुलाल एवं हरचन्द्रपुर ग्रामों का औचक निरीक्षण करते हुए दिये। उन्होने गांव में व्यापत गन्दगी पर नाराजगी करते हुए जिला पंचायत राज अधिकारी को निर्देश दिये कि वह सफाई कर्मियों पर नियंत्रण करें, सुनिश्चित किया जाये कि सफाई कर्मी अपने-अपने ग्रामों में जाकर सफाई का कार्य करें, यदि कोई सफाई कर्मी गांव न जाये तो उसे निलम्बित किया जाये।

उन्होंने मानक के अनुसार शौचालयों का निर्माण न कराने वाले ग्राम पंचायत अधिकारियो, ग्राम प्रधानों के विरूद्ध कार्यवाही करने, शौचालय योजना का लाभ लेकर शौचालय का प्रयोग न करने वालों पर भी कार्यवाही करने को कहा। श्री राव ने नगला राय में परीक्षत के घर से विजय पाल के घर तक बने खड़जें पर आधे रास्ते में मिट्टी पड़ी देखी, जिस कारण जल भराव की स्थिति बनी रहती है।

गांव के विद्यालय का हैण्डपम्प खराब है, गांव में 06 माह पूर्व विद्युत के पोल लगाये गये परन्तु अभी तक तार नहीं खिंचे हैं। ग्रामीणो ने बताया कि राशन कार्ड बनवाने हेतु कई माह पूर्व आनलाईन आवेदन किया परन्तु अभी तक कार्ड नहीं बनें, उन्होने फैजपुर में राजवीर के घर के सामने स्थित तालाब पर अवैध कब्जा पाया इस तालाब की गत वर्ष मनरेगा से सफाई करायी गयी थी परन्तु आज तालाब में पानी नहीं, तालाब में गन्दगी व्याप्त मिली, तालाब के चारो ओर ग्रामवासियों ने जानवर बांध रखे हैं इसके साथ ही पूरे गांव में गन्दगी व्याप्त मिली।

ग्राम मानिकपुर में अहिवरन के शौचालय में कण्डे भरे पाये गये, उदयवीर का शौचालय बन्द मिला, गनेश पाल के शौचालय का दरवाजा टूटा पाया गया, ग्रामीणों ने बताया कि शौचालय मानक के अनुसार नहीं बने है। जिस कारण उनमें गन्दगी रहती है, कमोवेश यही स्थिति नगला गुलाल में दिखा, बसन्त लाल, जय सिंह के शौचालयों के दररवाजे टूटे थें इसके अलावा सामान भरा पाया गया।

जिलाधिकारी को नगला गुलाल में चेतराम, पे्रमपाल, अमर चन्द्र, वीरेन्द्र सिंह, सुरेश आदि कटिया डालकर विद्युत चोरी करते मिले, इस गांव में अधिकांश घरो में कटिया पड़ी मिली, अमर चन्द्र ने तो विद्युत का पोल ही अपनी दीवार में चुन लिया, गांव के गौरी शंकर ने सीसी रोड पर जबरन ईट, ट्राली रखकर रास्ता बन्द कर रखा था जिसे तत्काल हटवाकर रास्ता खुलवाया गया ।

हरचन्द्रपुर के मुख्य मार्ग पर ही जल भराव की स्थिति देखने को मिली। ग्रामीणों द्वारा सीसी रोड, खडंजे पर खूंटे गाड़कर अपने जानवर बांधे जा रहे हैं। उन्होनें ग्रामीणो से कहा कि वह अपने जानवर अपने घरों में बांधे, कोई भी व्यक्ति अपने जानवर खडंजे पर कदापि न बांधे। यदि पुनः भ्रमण के दौरान जानवर बंधे मिले तो कार्यवाही होगी।

उन्होने मौके से ही खण्ड विकस अधिकारी, अधिशासी अभियन्ता विद्युत को तत्काल प्रभावी कार्यवाही करने के आदेश दिये। उन्होने संबंधित उप जिलाधिकारियो से कहा कि वह प्रत्येक गांव में तालाबों से अतिक्रमण हटवाना सुनिश्चित करें, संबंधित खण्ड विकास अधिकारी तालाबो की सफाई करायें।

रिपोर्ट- दीपक शर्मा

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here