बीमारी की हालात से गुजर रहा है राजकीय पशु चिकित्सालय मानिकपुर

0
174


कालाकॉकर(प्रतापगढ़ ब्यूरो)
– राजकीय पशु चिकित्सालय मानिकपुर जो बीमार पशुओ के इलाज के लिये बनवाया गया है, वो अस्पताल आज खुद ही बीमारी के हालत मे अचेत पड़ा हुआ है| न ही कोई अधिकारी उस के बारे मे जानने की कोशिश करता है, ना ही ड्यूटी पर तैनात कर्मचारी वहॉ आने की जरूरत समझता है|

मिरगढ़वा लालाबाजार रोड पर बने इस अस्पताल मे न ही डॉ. के दर्शन होते है, न ही किसी अन्य की हालात इतने डरावने की डर लगता है| दिन मे भी जैसे महीनो से कोई आता जाता न हो न बैठने की व्यवस्था न ही पानी की हैन्डपम्प भी बिगड़ा | कोई नेता भी जनता की इन समस्याओ से निजात दिलाने की बात नही करता| ऐसे लापरवाह सरकारी अधिकारी या कर्मचारी कब तक जनता को धोखा देगे और राजनेता या बड़े अधिकारी आंखे मूंदकर बैठे रहेगे ? क्या ये गरीबो और जरूरतमंद जानवरो का शोषण नही है, अगर है तो शोषण कर कौन रहा है और कब तक करेगा?

सरकार ने जनता का पैसा जनता के बीच मे लगाया मंहगे और काबिल डाक्टरों की तैनाती की| ये तो ठीक था लेकिन वो अपना काम कर रहे कि नही उसके लिये कोई भी जागरुकता अभियान चलाते और गैरजिम्मेदारो को सजा देने का भी कोई तरीका निकालते, तब शायद लोगो को अपनी जिम्मेदारी का अहसास हो और अपना काम को ड्यूटी नही बल्की अपना कर्तव्य समझ कर करते तो सरकार और जनता का पैसा सही सही उपयोग मे आये l सरकारी बिल्डिंग बनवाना बड़ी बात है लेकिन उसका उपयोग होना ही कामयाबी है|

रिपोर्ट- पंकज मौर्या
हिंदी समाचार- से जुड़े अन्य अपडेट लगातार प्राप्त करने के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज और आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here