बच्चों को मदरसे और मस्जिद भेजना बंद करें, इस्लामिक साइट्स पर लगा दें बैन – तस्लीमा नसरीन

0
346

http://blog.mareee.com/priority/ponyatie-tselii-zadachi-ekonomiki.html понятие целии задачи экономики महिलाओं के उत्थान के लिए और समाज के उत्थान के लिए अपना पूरा जीवन लगा देने वाली मशहूर लेखिका तस्लीमा नसरीन ने एक ट्वीट करके एक बड़ी बहस और लोगों को फिर से सोचने तथा विचार करने के लिए विवश कर दिया है I

http://komatsu-air.by/priority/chertezhi-lyuk-v-podval-pod-plitku.html чертежи люк в подвал под плитку इस मशहूर लेखिका और एक्टिविस्ट ने अपने एक ट्वीट में लिखा है कि मुस्लिम बच्चों का ब्रेन वाश करना बंद होना चाहिए और उन्हें मदरसों और मस्जिद से जितना हो सके उतना दूर रखो, उन्होंने अपने ट्वीट में लिखा है कि बच्चों को मदरसे और मस्जिद में भेजना बंद करो तथा जितनी भी इस्लामिक वेबसाईट आज इंटरनेट पर चल रही हैं उन सभी को ब्लाक कर देना चाहिए I

ремонт стоек ваз своими руками

сонник морские чудовища आपको बता दें कि तस्लीमा नसरीन वह महिला है जिन्हें पूरी दुनिया में उनके स्वतंत्र विचारों के लिए जाना जाता है, तस्लीमा नसरीन का जन्म पूर्वी पाकिस्तान आज के बांग्लादेश में 25 अगस्त 1962 में हुआ था I इन्होने डाक्टरी की पढ़ाई की हुई है लेकिन इन्हें इनके स्वतंत्र विचारों की वजह से ही बांग्लादेश से निर्वासित कर दिया गया और वह आजकल भारत में शरणार्थी के रूप में अपना जीवन बिता रही हैं I

http://outsourcenewsletters.com/owner/sadovaya-dorozhkasvoimi-rukamiiz-podruchnih.html садовая дорожкасвоими рукамииз подручных तस्लीमा नसरीन ने एक के बाद एक कई ट्वीट किये है जिनमें से एक में उन्होंने लिखा है कि आज हमें 7 वीं सदी का इस्लाम 21 वीं सदी में देखने को मिल रहा है I हमें बच्चों को मस्जिद और मदरसों से दूर रखना चाहिए I

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY