अवैध खनन पर नहीं लग पा रही रोक योगी सरकार के दावों की उड़ाई जा रही धज्जियां

0
104

सीतापुर (ब्यूरो)-  योगी सरकार लाख दावे करें कि अवैध खनन माफियाओं पर मुकदमा किए जा रहे हैं लेकिन जनपद सीतापुर के खनन माफियाओं के हौसले आज भी बुलंद हैं प्राप्त जानकारी के अनुसार जनपद सीतापुर की तहसील लहरपुर के गांव हरिहरपुर बसंतपुर रमवापुर इटोरा मूडीखेरा गडौसा रिहार ढाखिया मडोरवा कुटीसुपौली परवतपुर खलेपुरवा सेमरिया रतौली उसिया चाँदी बेलवा कुटी सुपौली जाल्लेहेपुर पुर भिठिया चौका बैरियर आदि जगहों पर रातों रात अवैध खनन किया जा रहा है हरिहरपुर में पूरा गांव खनन में संलिप्त है जिस जगह खनन होता है वहां से 5 किलोमीटर दूर तक सड़क के किनारे खनन माफियों के आदमी लगे हैं जो किसी अधिकारी की गाड़ी आते देखते हैं तुरंत खनन माफियों को फोन कर जे सी बी ट्रैक्टर ट्राली डम्प पर पहुंचा देते हैं|

बताते चलें कि हरिहरपुर में ड्रम उठान का ठेका हुआ था एक माह पहले लेकिन प्रतिदिन कम से कम 1 माह से 300 ट्राली बालू जाती है ट्रंप उसी प्रकार आज भी लगा है इससे प्रतीत होता है कि नीचे से लेकर ऊपर तक के अधिकारी से अवैध खनन में संलिप्त हैं यदि कोई व्यक्ति थाना अध्यक्ष, एस डी एम लहरपुर बिसवा से खनन अधिकारी से शिकायत करता भी है तो खनन अधिकारी व क्षेत्रीय प्रशासन तुरंत खनन माफियों को सूचना कर देता है कि इस नाम व इस नंबर से आपकी शिकायत आई है तो खनन माफिया उस पर दबाव बनाना शुरु कर देते हैं और नहीं मानता है तो उठवा लेने मरवा देने की धमकी भी दी जाती है जिससे शिकायत करता डर जाता है|

सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार दिनांक0 9/ 8/ 17 की रात्रि में लहरपुर सी ओ लहरपुर कोतवाल द्वारा अवैध खनन कर रही बीस ट्राली मूडीखेरा वा खालेपुरवा से रात्रि में पकड़ी गई थी लेकिन खनन माफियाओं ने अधिकारियों से साठगांठ कर पकड़ी गई सभी ट्रैक्टर ट्राली रात्रि में ही छुड़वा लिया वही तम्बौर पुलिस द्वारा चाँदी बिलवा में अवैध खनन कर रहे चार ट्रैक्टर ट्राली पकड़ी गई थी लेकिन अवैध खनन माफियाओं की मिली भगत से मात्र खानापूर्ति की गई थी |

खनन माफियाओं द्वारा हरिहरपुर ट्रंप की रायलटी दे कर कोर्ट से ट्रैक्टर ट्राली रिलीज करा लिया है इससे प्रतीत होता है कि योगी सरकार अवैध खनन माफियों व भ्रष्ट कर्मचारियों के आगे बौना साबित हो रही है इस संबंध में जब एसडी एम लहरपुर से वार्ता करनी चाही गई तो सी यूं जी नंबर नोट रिचेबल जाता रहा वहीं खनन माफियाओं द्वारा रॉयल्टी के नाम पर तीन से ₹5000 अवैध तरीके से वसूले जा रहे हैं। कैसे रुकेगा अवैध खनन।

रिपोर्ट – गजेंद्र मिश्रा

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here