सो रहा नगर प्रशासन, नगर और नालियों में कूड़े और बदबू का अम्बार

0
75

बांगरमऊ/उन्नाव (ब्यूरो) : नगरपालिका बांगरमऊ में स्वच्छता अभियान चलाए जाने के बावजूद भी विभिन्न मोहल्लों में जगह-जगह पर कूड़े के ढेर जमा हैं । नगर के सफाई कर्मचारी सफाई कार्यों में रुचि नहीं लेते हैं । नगर प्रशासन का भी इन पर कोई नियंत्रण नहीं है। जिससे नगर में जगह जगह गंदगी के ढेर जमा हैं और नगर की जल निकासी के लिए बनाए गए नाले में कीचड़ और गंदगी से बजबजा रहे हैं। गंदगी के चलते नगर में मच्छरों की भरमार है और नगर प्रशासन की ओर से फागिंग का कार्य भी नहीं कराया जा रहा है।

नगर पालिका परिषद बांगरमऊ पच्चीस वार्डों में विकसित है और इन वार्डों में लगभग बड़े छोटे 50 मोहल्ले समाहित हैं। इनकी सफाई करने के लिए वैसे तो नगर प्रशासन के पास सफाई कर्मचारियों की फौज है लेकिन आरोप है कि इन सफाई कर्मचारियों में संविदा पर काम करने वाले सफाई कर्मचारी काम नहीं करते हैं। जिससे नगर के मोहल्ला टेढ़ी बाजार, गुलाम मुस्तफा, हटिया मस्जिद के पास, नौनिहाल गंज, कस्बा टोला सहित चौघडा चौराहा आदि को मिलाकर अनेकों स्थानों पर कूड़े के बड़े बड़े ढेर लगे हैं। यह ढेर प्रदेश में चलाए जा रहे संपूर्ण स्वच्छता अभियान की पोल खोल रहे हैं । अधिकाश क्षेत्रों में नालिया बजबजा रही हैं और नालियों का पानी सड़कों पर बह रहा है ।नगर की जल निकासी के लिए बनाया गया मुख्य नाला जो नौनिहाल गंज बाजार से होता हुआ डिग्री कालेज तक जाता है वह भी सिल्ट से पटा पड़ा है। वर्षा का समय निकट है और समय से नालों को साफ नहीं किया गया तो पूरे नगर में जलभराव की स्थिति विगत वर्षो की भांति इस वर्ष भी बनेगी और नागरिकों को जलभराव की समस्या से दो चार होना पड़ेगा ।नगर में स्टेशन रोड चौराहा, चूड़ी वाली गली, नौनिहाल गंज बाजार प्रतिवर्ष जलभराव की समस्या से ग्रसित होते हैं।

नौनिहाल गंज बाजार वा चूड़ी वाली गली में दर्जनों दुकानों में जलभराव का पानी भर जाता है । मुख्य नालियों की पुलियों पर ईटा लगाकर काम चलाया जा रहा है। जिससे वह ईंटों में कूड़ा करकट फस जाता है और पानी का आवागमन बंद हो जाता है ।इसके अलावा नगर में जलभराव समस्या की निजात के लिए लगभग 3 वर्ष पूर्व हरदोई उन्नाव मार्ग पर सराय मोहल्ले से डिग्री कॉलेज तक मार्ग के दोनों तरफ बनाए गए नालों में पालिका ने खर्च तो लाखों रुपए की धनराशि की है किंतु इसका फ़ायदा नाम मात्र का भी नागरिकों को नहीं मिल रहा है ।बनने के तुरंत बाद एक तरफ के नाले को मिट्टी डालकर बंद कर दिया गया था ।दूसरी तरफ का नाला बरकरार है किंतु वह ऊंचा नीचा बना है जिसमें हेड पर कम ऊंचाई और टेल पर ज्यादा ऊंचाई होने के कारण पानी का आवागमन नहीं हो पाता है ।ऐसी ही स्थिति से पूरे नगर में मच्छरों की भरमार है ।और नगर पालिका प्रशासन इन मच्छरों से निजात दिलाने के लिए नगर में फागिंग का कार्य भी कागजों तक ही सीमित किए हुए हैं ।नगर के सामाजिक कार्यकर्ता मोईन खान ने इस समस्या को लेकर पालिका प्रशासन को एक ज्ञापन भी सौंपा है ।इस संबंध में अधिशासी अधिकारी मुकेश कुमार निगम से बात करने का प्रयास किया किंतु उनका फोन स्विच ऑफ जाता रहा।

रिपोर्ट – रघुनाथ प्रसाद शास्त्री

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY