“बन्दर के हाँथ तलवार” कुछ ऐसे ही झोलाछाप डॉक्टर्स से भरी पड़ी हैं नोएडा की गलियाँ, लोगों की जिंदगी से ही रहा खिलवाड़

0
109

गौतम बुद्ध नगर ब्यूरो : एक तरफ़ जहाँ योगी और मोदी सरकारें लोगों को बेहतर स्वास्थ्य मुहैया कराने के लिए एक के बाद एक योजनाएँ चला रही हैं वहीं दूसरी ओर समाज में कैंसर की तरह फैले झोलाछाप डॉक्टर सरकार कोई इन योजनाओं को धराशायी करने में लगे हुए हैं, ये झोलाछाप डॉक्टर ना सिर्फ़ लोगों को गुमराह कर डॉक्टर बन बैठे हैं, बल्कि सीधे तौर पर लोगों के स्वास्थ्य और जीवन से खिलवाड़ कर रहे हैं । अगर कुछ एक्स्पर्ट्स की माने तो इन झोलछापों के द्वारा दी जाने वाली दवा मरीज़ को ठीक करने की बजाय उसके आंतरिक अंगों को नुक़सान पहुँचाती है, और मरीज़ के लिए धीमे ज़हर का काम करती है ।

हैरत की बात तो यह है कि इस तरह के डॉक्टर सिर्फ़ छोटे शहरों या गाँव में ही नहीं बल्कि बड़े शहरों में भी बड़ी मात्रा में हैं, और धड़ल्ले से ग़रीब जनता को गुमराह कर रहे हैं । ये झोलाछाप बिना किसी डर के धड़ल्ले से बड़े-बड़े शाइन बोर्ड लगाकर अपना प्रचार भी करते है, इतना ही नहीं हाईस्कूल, इंटर पास ये डॉक्टर अपने नाम के आगे डॉक्टर लगाने में कोई गुरेज़ नहीं करते और किसी ने कोई सवाल पूछा भी तो ख़ुद को ग़रीबों का मसीहा बताते हुए सीधे सरकारी तंत्र पर सवाल खड़े कर देते हैं और कहते हैं सरकारी अस्पतालों में लोगों को सही से इलाज ना मिलने के चलते वे सेवा भाव से यह काम कर रहे हैं । इन डॉक्टरों के हाँथ में दवा ठीक वैसे ही है जैसे बन्दर के हाँथ में तलवार जो ना जाने कब कहाँ किसकी जान लेले |

अखंड भारत कोई टीम ने जब जनपद गौतम बुद्ध नगर के कुछ इलाक़ों में जाकर सच्चाई जाने की कोशिश की तो हर गली हर चौराहे पर इन सफ़ेदपोश हत्यारों की भरमार मिली जो गाँव से शहर रोटी और कपडे की हजारों लाखों लोगों की जिंदगियों से खिलवाड़ कर रहे हैं, और बड़ी ही शान के साथ खुद को डॉक्टर बताकर लोगों के विश्वास से खेल रहे हैं और प्रशासन भी इनपर लगाम लगाने में पूरी तरह से नाकाम साबित हो रहा है | ऐसे में जब सरकार स्वास्थ्य जैसी अति आवश्यक चीजें मुहैया करने में नाकाम है तो बाकी उम्मीद ही क्या की जा सकती है |

रिपोर्ट – अजय सिंह 

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY