बालिकाओं का आत्मबल बढ़ाती हैं कराटे एवं ताइक्वांडो जैसी विधाऐं: लक्ष्मण गोविंद हर्षे

0
83

जालौन(ब्यूरो)- कराटे एवं ताइक्वांडो जैसी विधाऐं बालिकाओं का आत्मबल तो बढ़ाती ही हैं। साथ ही आज के समय की भी आवश्यकता है कि अधिक से अधिक बालिकाऐं इस तरह की विधाऐं सीखें और आवश्यकता पड़ने पर इन विधाओं का प्रयोग भी करें। जिससे अराजक तत्व आज की नारी को अबला समझने की भूल न करें। यह बात स्थानीय आनंदी बाई हर्षे बालिका इंटर काॅलेज में आयोजित छात्रा विकास शिविर के समापन के अवसर पर कार्यक्रम अध्यक्ष लक्ष्मण गोविंद हर्षे एवं मुख्य अतिथि आलोक खन्ना ने संयुक्त रूप से कही।

शनिवार को स्थानीय आनंदी बाई हर्षे बालिका इंटर काॅलेज में 20 दिवसीय छात्रा विकास शिविर का समापन समाजसेवी लक्ष्मण गोविंद हर्षे की अध्यक्षता एवं वरिष्ठ पत्रकार एवं समाजसेवी आलोक खन्ना के मुख्य आतिथ्य में संपन्न हुआ। शिविर के दौरान छात्राओं को डांस, कराटे, ताइक्वांडो, योगा, मेंहदी, संगीत, क्राफ्ट आदि विभिन्न विधाओं का प्रशिक्षण दिया गया। समापन के अवसर पर छात्राओं द्वारा उक्त समस्त विधाओं का उत्कृष्ट प्रदर्शन अतिथियों के समक्ष किया गया।

कार्यक्रम का शुभारंभ मुख्य अतिथि, विद्यालय की प्रबंधिका संध्या हर्षे एवं प्रधानाचार्या सुनीता शर्मा द्वारा संयुक्त रूप से मां सरस्वती के प्रतिमा पर माल्यार्पण एवं दीप प्रज्ज्वलन के साथ किया गया। इस दौरान मुख्य अतिथि ने उपस्थित सभीजनों को संबोधित करते हुए कहा कि विद्यालयों में शिक्षणेत्तर क्रिया कलापों से छात्र, छात्राओं को चहुंमुखी विकास होता है और उनकी प्रतिभा निखरकर सामने आती है। इस प्रकार के शिविर बालिकाओं के सर्वांगीण विकास के लिए आवश्यक हैं। तो वहीं, कराटे एवं ताइक्वांडो जैसी विधाऐं बालिकाओं का आत्मबल तो बढ़ाती ही हैं। साथ ही आज के समय की भी आवश्यकता है कि अधिक से अधिक बालिकाऐं इस तरह की विधाऐं सीखें और आवश्यकता पड़ने पर इन विधाओं का प्रयोग भी करें। जिससे अराजक तत्व आज की नारी को अबला समझने की भूल न करें। उन्होंने कहा कि इस शिविर के माध्यम से बालिकाओं को निर्भीक एवं आत्मनिर्भर बनाने के साथ-साथ उन्हें रोजगार परक प्रशिक्षण प्राप्त करने का अवसर प्राप्त हो रहा है। शिविर में डांस का प्रशिक्षण भूपेंद्र रायक्वार, कराटे एवं ताइक्वांडों पंकज, संगीत नीरजा अवस्थी एवं अनामिका शर्मा, मेंहदी शिव्या चैबे, क्राफ्ट श्वेता गुप्ता एवं वैदिक गणित का प्रशिक्षण आलोक बादल द्वारा दिया गया।

इस मौके पर प्रबंधिका संध्या हर्षे, डाॅ. मालती द्विवेदी, निर्देशिका अर्चना जोशी, संयोजिका उमा अग्रवाल, रेखा बाजपेई, प्रधानाचार्या सुनीता शर्मा, ऊषा गुप्ता, अलका पुरवार, मुक्ता देशपांडे, मिथलेश दीक्षित सीमा द्विवेदी आदि सहित समस्त विद्यालय स्टाॅफ व छात्राऐं उपस्थित रहीं।

रिपोर्ट- अनुराग श्रीवास्तव 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here