छत्तीसगढ़ में पूर्ण शराबबंदी के लिए अब रायपुर की सड़कों पर चक्का जाम करेगा सामाजिक एकता मंच और नारी शक्ति संगठन – भूपेंद्र सिंह

0
281


रायपुर छत्तीसगढ़ सहित छत्तीसगढ राज्य भर में पूर्ण शराबबंदी की मांग का नारा बुलंद करते हुए सामजिक एकता मंच और नारी शक्ति संगठन ने पिछले लगभग 15 दिनों से मोर्चा खोल रखा है ।

” मुख्यमंत्री के निर्देशानुसार जिन शराब दुकानों में विरोध होगा वो दुकाने नहीं खोली जायेगी ” को आधार बनाकर संयोजक भूपेंद्र सिंह , के के कोठारी , नेहा तिवारी के नेतृत्व में रायपुर के टाटीबंध से लेकर तेलीबांधा , रायपुरा से लेकर राजेंद्र नगर सहित शहर के बीच अलग-अलग शराब दुकानों के सामने उन शराब दुकान से पीड़ित जनता के साथ विरोध दर्ज कराकर 1 अप्रेल 2017 से पूर्ण शराबबंदी की मांग की जा रही है ।

सुप्रीम कोर्ट के निर्देश से प्रभावित शराब दुकानो के विस्थापन के लिए हाल में जारी टेंडर से शराब दुकान के विरोध वाले मुख्यमंत्री का बयान सिर्फ एक धोखा साबित होता दिख रहा है जिसके लिए सामजिक एकता मंच और नारी शक्ति संगठन ने अब सड़क पर उतर कर इस लड़ाई को एक कदम और आगे ले जा रही है ।

संयोजक भूपेंद्र सिंह के अनुसार मुख्यमंत्री वादाखिलाफी कर रहे है और आम जनता के विरोध को दरकिनार कर शराब दुकान खोलकर छत्तीसगढ़ की आम जनता के सीने में मुंग दलने पर आमादा है । छत्तीसगढ़ सरकार विगत 13 वर्षों में आम जनता को शराब सहित अन्य नशे में डुबोकर खुद भी गले तक भ्रष्टाचार में डूब चुकी है और अब खुद नशे में आकर वादाखिलाफ़ी करने लगी है।

शराब के लिए सड़क की लड़ाई लड़ने सामजिक एकता मंच और नारी शक्ति संगठन संयुक्त रूप से 1 मार्च से चक्का जाम करने जा रही है जिसके प्रथम चरण में अलग-अलग दिन रायपुरा चौक , हीरापुर चौक , तेलीबांधा चौक पर चक्का जाम किया जाएगा । उसके बाद अगले चरण में शहर के अलग अलग हिस्सों जयस्तंभ चौक , कोतवाली चौक , सहित अन्य मुख्य मार्गो पर चक्का जाम कर पूर्ण शराबबंदी के लिये प्रदर्शन करेगी।

रिपोर्ट–हरदीप छाबड़ा

हिंदी समाचार- से जुड़े अन्य अपडेट लगातार प्राप्त करने के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज और आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here