उड़ाका दल ने तीन छात्राओं समेत 9 नकलचियों को धर दबोचा, हाईस्कूल के 18 हजार ने छोड़ी विज्ञान की परीक्षा

0
68

बलिया(ब्यूरो)– सूबे में हुए सत्ता परिवर्तन की झलक अब परीक्षा केन्द्रों पर भी दिखने लगी है। हाल यह है कि बोर्ड परीक्षा के दौरान नकल कराने को लेकर मोटी रकम वसूलने वाले शिक्षा माफिया भी इन दिनों बदले झांकने लगे है। कारण कि प्रदेश के नये निजाम के नकल रोकने के आदेश से सक्रिय हुआ जिला प्रशासन की सख्ती से भारी संख्या में परीक्षा से स्वयं को अलग करने लगे है। गुरुवार को तकरीबन 18 हजार परीक्षार्थियों द्वारा छोड़ी गया इम्तिहान तो महज इसकी बानगी भर है।

बता दें कि जिले में विज्ञान की परीक्षा के लि, कुल 100094 छात्र पंजीकृत थे, जबकि 81850 छात्र ही परीक्षा में सम्मिलित हुए। करीब 18244 छात्रों ने प्रशासन की सख्ती के चलते परीक्षा में बैठना मुनासिब नहीं समझा। माध्यमिक शिक्षा परिषद द्वारा आयोजित विज्ञान की परीक्षा के तहत जिले में बृहस्पतिवार को उड़ाका दल ने कुल नौ नकलचियों को धर दबोचा। जिनमें छह छात्र व तीन छात्रायें शामिल है। उड़न दस्ते ने सुबह की पाली की परीक्षा में नगरा स्थित जनता इंटर कालेज से नकल करते दो छात्रा, परशुराम इंटर कालेज से एक छात्रा, राजमुनि उ0मा0 विद्यालय से दो छात्र, आर्दश उ.मा. विद्यालय से दो छात्र, पंचदेयी राजमुनि उ.मा. स्कूल से एक छात्र को नकल करते पकड़ा। इसके अलावा उसी विद्यालय से फ्लांइग स्कवाड की टीम ने एक कक्ष निरीक्षक को नकल कराते धर दबोचा और ततकाल प्रभाव से उसे कार्य मुक्त कर दिया।

एक परीक्षा केन्द्र सीज, एफआईआर-
उपजिलाधिकारी सिकंदरपुर ने गुरुवार को सुबह बोर्ड परीक्षा के दौरान हथौज स्थित जयगणेश इंटर कालेज में छापा मारा। जहां से भारी मात्रा में नकल सामग्री जब्त की और परीक्षार्थियों को सामूहिक नकल करते पाया। जिस पर कारवाई करते हुए एसडीएम ने केन्द्र को सीज करते हुए केन्द्र व्यवस्थापक पर एफआईआर दर्ज करने का आदेश दिया।

रिपोर्ट- संतोष कुमार शर्मा
हिंदी समाचार- से जुड़े अन्य अपडेट लगातार प्राप्त करने के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज और आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं |

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY