सुदिती ग्लोबल एकेडमी के विद्यार्थियों ने नीट-2017 की परीक्षा में प्रतिभाग कर महत्वपूर्ण सफलता की अर्जित

0
130

मैनपुरी(ब्यूरो)- कठिन परिश्रम, दृढ़ इच्छा शक्ति से कोई भी लक्ष्य आसानी से प्राप्त किया जा सकता है। सुदिती ग्लोबल एकेडमी मैनपुरी के छात्रों ने यह पूरी तरह से सिद्ध कर दिया कि परिश्रमी व्यक्ति अपना उद्देश्य हर जगह सफल कर लेता है।

ज्ञातव्य है कि बारहवीं कक्षा के बाद विद्यार्थी विभिन्न प्रतियोगी परीक्षाओं में सम्मिलित होते हैं और उत्तीर्ण होने पर अलग-अलग विभागों में अपना स्थान सुनिश्चित करते हैं। इसी क्रम में शहर के विद्यालय सुदिती ग्लोबल एकेडमी के विद्यार्थियों ने नीट-2017 की परीक्षा में प्रतिभाग कर महत्वपूर्ण सफलता अर्जित करते हुए विद्यालय तथा जिले का नाम रोशन किया। परीक्षा में इस वर्ष भी विद्यालय के 11 विद्यार्थियों अनुराग कुमार (2306वीं रैंक), आकांक्षा यादव (13203वीं रैंक), राघव पाण्डेय (14000वीं रैंक), आयुष गुप्ता, सारिया रिजवी, रिया सिंह, रितुल अग्रवाल, हर्षिता यादव, सुमित यादव, नंदिता यादव, रिया साजवान ने नीट-2017 की परीक्षा में उल्लेखनीय सफलता प्राप्त कर अपने माता-पिता को गर्वित किया। ये सभी विद्यार्थी परीक्षा की तैयारी के लिए दिल्ली, कोटा, मुम्बई आदि कहीं भी कोचिंग संस्थानों पर नहीं गए बल्कि अपने विद्यालय में ही नियमित रूप से अध्ययन किया तथा अपने वरिष्ठ प्रधानाचार्य डा. राम मोहन के कुशल मार्गदर्शन, अध्यापक-अध्यापिकाओं द्वारा बताए गए सूत्रों का ही अनुसरण किया।

सफलता प्राप्त करने वाले छात्र-छात्राओं को मिष्ठान खिलाकर प्रशस्ति पत्र देते हुए विद्यालय के वरिष्ठ प्रधानाचार्य डा. राम मोहन ने कहा कि सफलता उन्हीं लोगों को प्राप्त होती है जो उसे प्राप्त करने के लिए एक कुशल मार्गदर्शक के अनुसार अनवरत कठिन परिश्रम करते हैं। माँ सरस्वती का मन्दिर विद्यालय ही वह परम पावन स्थान है जहाँ से सफलता के सभी रास्ते स्वयं ही नजर आते हैं। विद्यालय के इन मेधावी विद्यार्थियों ने यह स्वतः सिद्ध कर दिया कि विद्यालय की शैक्षिक प्रणाली वास्तविक रूप से विद्यार्थियों के उज्ज्वल भविष्य के अनुसार ही सुनिश्चित की गयी है। जो छात्र प्रतिदिन समय से विद्यालय आते हैं और अपने अध्यापक-अध्यापिकाओं द्वारा दिए गए निर्देशन के अनुकूल शिक्षा ग्रहण करते हैं तथा अपने लक्ष्य के प्रति हमेशा प्रयत्नशील रहते हैं, उन्हें कहीं भी दूसरे स्थानों पर भटकने की आवश्यकता नहीं होती क्योंकि हमारी शैक्षिक पद्धति इस तरह की है, जिसका अनुसरण करते हुए विद्यार्थी कक्षा बारहवीं के बाद होने वाली सभी प्रतियोगी परीक्षाओं में उच्च अंक प्राप्त करके सफलता प्राप्त कर लेते हैं।

हम अपने उद्देश्य के अनुसार बाहर से कुशल, प्रशिक्षित विषय विशेषज्ञ अध्यापकों को नियुक्त करते हैं जो अपने परिश्रम एवं कुशल निर्देशन से मैनपुरी शहर में भी विद्यार्थियों को उच्च शिक्षा देते हैं और विद्यार्थी अपने भविष्य के उज्ज्वल सपनों को साकार करते हैं। हम विद्यार्थियों के सर्वांगीण विकास को दृष्टिगत करते हुए कार्य करें जिससे उन्हें अपने भविष्य के लिए किसी भी कठिनाई का सामना न करना पड़े और वह अपने माता-पिता के सपनों को साकार करें एवं अपने देश की सेवा करते हुए विश्व इतिहास में भारत वर्ष का नाम रोशन करें। इस अवसर पर विद्यालय की प्रशासनिक प्रधानाचार्य डा. कुसुम मोहन, प्रबन्ध निदेशक लव मोहन, उप प्रधानाचार्य जय शंकर तिवारी, कैम्पस कोआॅर्डीनेटर अल्का दुबे, दीपक उपाध्याय, योगेश यादव, ए.पी.साहू, दामिनी केसरवानी सहित समस्त अध्यापक-अध्यापिकाओं ने भी चयनित विद्यार्थियों को अपनी शुभकामनाएं देते हुए उनके उज्ज्वल भविष्य की कामना की।

रिपोर्ट- दीपक शर्मा 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here