एडमिशन में धांधली और मनमानी फीस वृद्धि को लेकर छात्रों का धरना प्रदर्शन

0
146

बड़ागाँव/वाराणसी (ब्यूरो)- श्री बलदेव पी जी कालेज बड़ागाव में विद्यालय प्रसाशन द्वारा मनमानी फीस एंव एडमिशन में धांधली किये जाने का आरोप लगाते हुए विद्यालय के नव प्रवेशी छात्र, छात्राओं ने विद्यालय गेट पर तालाबंदी कर आज सुबह 11 बजे धरना प्रदर्शन शुरू कर दिया इसकी सुचना मिलने पर थानाध्यक्ष बड़ागांव ने मौके पर पहुंच कर प्राचार्य के साथ छात्रों के समस्याओं के निस्तारण हेतू वार्ता कर रहे थे ।

बताते चलें की महाविद्यालय में प्रवेश परीक्षा संपन्न होने के बाद नामांकन प्रक्रिया प्रारंभ कर दी गयी है। आज काफी संख्या में छात्र, छात्राए बी ए और बी एस सी प्रथम वर्ष में प्रवेश लेने के लिये विद्यालय काउंटर पर पहुंचे तो देखा नोटिस बोर्ड पर बी एस सी में एडमिशन के लिए सैंतीस सौ छह रूपये से लेकर चार हजार रूपये तक तथा बी ए में इकत्तीस सौ छिहत्तर रूपये से लेकर पैंतीस रूपये प्रवेश फीस जमा करने का बोर्ड लगा था |

लेकिन छात्र छात्राओं से विद्यालय प्रसाशन छह से सात हजार रूपये फीस मांगा जा रहा था इतना ही नहीं छात्रों का आरोप है की प्रवेश परीक्षा में उत्तीर्ण होने के बाद भी विद्यार्थियों का इंटरव्यू भी ले रहे है साथ-साथ छात्र जो विषय लेकर पढ़ना चाह रहे हैं, उन्हें वह विषय न देकर विद्यालय प्रसाशन मनमाने ढंग से दुसरे विषय जबरदस्ती ठोक रहा है ।

उपरोक्त कारणों से छात्र भड़क गये और विद्यालय गेट में तालाबंदी कर धरना प्रदर्शन करने लगे ।समाचार दिये जाने तक विद्यालय के प्राचार्य डा० विनोद कुमार सिंह एंव थानाध्यक्ष दिलिप कुमार सिंह छात्र नेताओं से वार्ता कर रहे थे इस दौरान प्राचार्य का कहना है की फीस वृद्धि ,इंटरव्यू एंव विषय देने का निर्णय प्रबंध कमेटी द्वारा लिया गया है छात्रों की समस्याए संञान में आई है प्रबंध कमेटी से बात कर समस्या का निस्तारण किया जायेगा वहीं छात्रों का कहना है की मनमानी फीस की जगह नोटिस बोर्ड पर लगे फीस की राशी छात्रों से लिया जाये और इंटरव्यू लेने की नई प्रथा समाप्त किया जाय और प्रवेश परीक्षा में उत्तीर्ण छात्र ,छात्राओं के द्वारा मनपसंद चयनित विषयों में ही नामांकन किया जाय । धरना प्रदर्शन का नेतृत्व छात्र नेता विशाल यादव , दीपक पटेल ,मंगेश यादव ,वैभव सिंह ,सुनील यादव एंव गोविंद द्वारा किया गया धरना प्रदर्शन में सैकड़ो छात्र छात्राओं ने भाग लिया ।

रिपोर्ट – घनश्याम गुप्ता

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here