उपजिलाधिकारी ने हटवाया अवैध कब्ज़ा

0
99

बीघापुर(उन्नाव)- उपजिलाधिकारी बीघापुर ने नगर पंचायत भगवन्त नगर की सीमा से जुडे़ पतारी ग्राम सभा में एक मंदिर के नाम ट्रस्ट की भूमि पर अवैध कब्जे को मंगलवार के दिन हटवा दिया। उपजिलाधिकारी के नेतृत्व में कब्जे वाले स्थल पर पहुंचे दल ने लगभग तीन घण्टे तक कार्यवाही करके दो अस्थाई व लगभग एक दर्जन से अधिक स्थाई कब्जेदारों के निर्माणाधीन मकानों को जेसीबी से हटवा दिया। तहसील प्रषासान ने ट्रश्ट की जमीन पर घर बना कर छत डाल चुके पांच कब्जेदारों को नोटिस भेजने के बाद हटवाने की बात कही।

पतारी ग्राम सभा में श्री विश्णु भगवान मंदिर की भूमि को कब्जेदारों से मुक्त कराने के लिए सुबह करीब 10ः30 बजे उपजिलाधिकारी बीघापुर के नेतृत्व में एक दल पहुंचा था। तहसील प्रषासन ने पहले तो अस्थाई कब्जेदारों को आधा घण्टे का समय दिया और इस दौरान नगर पंचायत के सफाई कर्मियों व जेसीबी मषीन भी बुलवा ली। सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए बिहार थाना और भगवन्त नगर चैकी पुलिस भी मौके पर मौजूद रही। लेखपाल व कानूनगो से भूमि का नक्षा व पैमाइष के बाद निर्माणाधीन इमारतों को गिराने का आदेष दे दिया। इस दौरान ट्रश्ट की देख रेख करने वाले अनिल बाबू सोनी ने पावर आफ अटार्नी दिखाते हुए निर्माण ढहाने से रोकने की बात कही। उपजिलाधिकारी ने किसी की बात न मानते हुए 5 माकनों को छोड़ कर जिनपर छत पड़ चुकी थी, बाकी का पूरा कब्जा खाली करा दिया।

जब इस सम्बन्ध में संरक्षक अनिल बाबू सोनी से बात की गई तो उनका कहना था कि मंदिर की छत ढह जाने के बाद ट्रश्टी जालिपा प्रसाद गुप्ता की सहमति से कुछ भूमि केा करार पर और कुछ भूमि को किराये पर दिया गया था। इससे प्राप्त धनराषि से मंदिर का निर्माण कराया गया है।वहीं एसडीएम बीघापुर ने ट्रश्ट की भूमि को किसी भी स्थिति में बिक्री या लीज पर दिये जाने का अधिकार न होने की बात कही। एसडीएम ने विक्री या लीज पर देने वालों को विरुद्ध कानूनी कार्यवाही करने की भी बात कही।

रिपोर्ट- मनोज सिंह

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here