12-15 साल का ISIS का आतंकी कर सकता है प्रधानमंत्री श्री मोदी की हत्या, ह्यूमन बम बना कर भेजा ISIS ने

0
458

नई दिल्ली- देश की खुफिया एजेंसियों ने अलर्ट जारी कर कहा है कि आतंकी संगठन आइएस 12 से 15 साल के फिदायीन हमलावरों के जरिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को निशाना बना सकता है। ख़ुफ़िया एजेंसियों ने अपनी रिपोर्ट में ये भी कहा है कि हमें आशंका जताई गई है कि आतंक की ट्रेनिंग ले चुके ये लड़के देश में घुसपैठ कर चुके हैं। आपको बता दें कि शुक्रवार को जैसे ही खूफिया एजेंसियों ने अपनी रिपोर्ट गृहमंत्रालय को सौंपी तुरत पूरा का पूरा गृहमंत्रालय हरकत में आ गया और ख़ुफ़िया एजेंसियों से मिली इस जानकारी को प्रधानमंत्री की सुरक्षा में लगे एसपीजी समेत सभी सुरक्षा विभागों से साझा कर दिया गया है।

एसपीजी ने प्रधानमंत्री मोदी से सुरक्षा घेरा न तोड़ने की अपील की है –
सुरक्षा एजेंसियों को इस बात की आशंका है कि गणतंत्र दिवस के मौके पर बच्चों के संभावित आतंकी दस्ते द्वारा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर हमला किया जा सकता है इसी के मद्देनजर एसपीजी और वरिष्ठ सलाहकारों ने पीएम मोदी से गणतंत्र दिवस परेड के दौरान सुरक्षा घेरे को ना तोड़ने की अपील की है।

आपको ज्ञात ही होगा कि पिछले साल स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी ने एसपीजी के सुरक्षा घेरे को तोड़कर सीधे बच्चों से मिलने के लिए उनके पास चले गए थे । इस बार यही कारण है कि एसपीजी और सुरक्षा सलाहकारों ने उन्हें ऐसा न करने की सलाह दी है I सुरक्षा एजेंसियों ने प्रधानमंत्री मोदी से कहा है कि क्रपया इस बार ऐसा न हो I

आपको बता दें कि सुरक्षा एजेंसियों के साथ दिल्ली पुलिस को गृहमंत्रालय की तरफ से कहा गया है कि संदिग्ध लोगों पर नजर बनाये रखे I दिल्ली पुलिस कि स्पेशल सेल को सर्च ऑपरेशन चलाने के लिए भी कहा गया है I आपको पता ही होगा कि ISIS ने हाल ही में प्रधानमंत्री श्री मोदी और रक्षामंत्री मनोहर परिर्कर को जान से मारने की धमकी दी थी I साथ ही आपके लिए यह भी जानना अतिआवश्यक है कि हाल ही में आइएस के द्वारा जारी किये गए एक वीडियों में यह भी दिखाया गया था कि आइएस के लड़ाके न सिर्फ केवल बड़े-बड़े लोग है बल्कि छोटे-छोटे बच्चे भी है I

आइएस ऐसे 12-15 साल के बच्चों या फिर इनसे भी छोटे बच्चों को आतंक की पूरी ट्रेनिंग देता है और उन्हें अक्सर ह्यूमन बम की तरह से प्रयोग में लाता है I प्रधानमंत्री मोदी के लिए भी आइएस ने ऐसे ही बम का इस्तेमाल करने की योजना बनाई है I हालाँकि ख़ुफ़िया विभाग को इस बात की जानकारी पहले से ही लग गयी है जिसके मद्देनजर ही प्रधानमंत्री को सुरक्षा घेरा न तोड़ने की अपील की गयी है और सुरक्षा के इंतेजाम और अधिक कड़े कर दिए गए है I

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY