सुजानगंज से मछलीशहर सड़क पर चलना कठिन, विभागीय लापरवाही हो रही उजागर

0
212


सुजानगंज/ जौनपुर ब्यूरो : प्रदेश सरकार के मुखिया योगी आदित्यनाथ की घोषणा 15 जून तक प्रदेश की सभी सड़कें गड्ढा मुक्त करने की है जिससे जनमानस में यह उम्मीद जगी है कि सडके व्यवस्थित हो जाएंगी और आवागमन की की समस्या से निजात मिलेगी |

 

विभागीय शिथिलता से ऐसा प्रतीत हो रहा है कि यह योगी की घोषणा परवान नहीं चढ़ पाएगी । तहसील मुख्यालय मछलीशहर से पराहित, मतरी , थलोई, भिखारीपुर, मुस्तफाबाद,  बारा, छिमिया, सुजानगंज दीपक पुर, देवापुर, सखवट, भूईधरा, बेलवार गोल्हनामऊ होते हुए प्रतापगढ़ की सीमा से लगे कुन्दहा तक जाने वाली सड़क की दशा को देख कर तो ऐसा ही प्रतीत होता है कि योगी का आदेश केवल घोषणा तक ही सीमित रह जाएगा ।

 

उल्लेखनीय है कि इस सड़क के चौड़ीकरण का कार्य महीनों पूर्व शुरू हुआ था लेकिन चार-पांच किलोमीटर तक दोनों तरफ पटरियों को चौड़ा करने का कार्य अचानक महीनों पूर्व से बंद पड़ा है ऐसे में लोगों की उम्मीद पर पानी फिरता नजर आ रहा है। जनपद के पश्चिमी छोर को तहसील और जनपद मुख्यालय से जोड़ने वाले इस मार्ग की उपयोगिता अंदाजा लगाया जा सकता है कि जब की इस मार्ग पर चलना किसी खतरे से खेलने के समान हो गया है सड़क इस प्रकार टूटकर गड्ढों में तब्दील हो गई है कि इस पर चल पाना जोखिम भरा काम हो गया है इस मार्ग पर चलने के पूर्व कई बार सोचना पड़ता है कि घर सुरक्षित लौट पाएंगे या नहीं सड़क की पटेरिया भी कहीं-कहीं इस तरह से क्षतिग्रस्त हो गई है की आमने सामने से वाहनों के आ जाने पर निकलना मुश्किल हो जाता है इस संदर्भ में जब अधिशासी अभियंता से बात की गई तो उन्होंने कहा कि जितना धन आया था उतना काम हुआ। धन के अभाव में कार्य बंद हो गया है मांग की गई है धन आते ही कार्य शुरू करा दिया जाएगा।

रिपोर्ट – अमित कुमार पाण्डेय

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here