दिसंबर तक भारतीय वायु सेना हो जायेगी कई गुना अधिक शक्तिशाली

0
29913

sukhoi 30mki

नई दिल्ली – देश के केंद्र में जब से मोदी सरकार आई है तब से भारत वर्ष ने एक के बाद एक कई बड़े ही ऊँचे-ऊँचे मुकाम हासिल किये है | आज उसी रफ़्तार को आगे बढाते हुए भारत सुरक्षा के क्षेत्र में एक और मुकाम हासिल करने जा रहे है | दरअसल हम आपको बता दें कि सुखोई एसयू-30 लड़ाकू विमान से परमाणु सक्षम ब्रह्मोस सुपरसोनिक क्रूज मिसाइल दागने के अंतिम परीक्षण दिसंबर में होने का अनुमान है | इस मिसाइल को बगैर किसी लक्ष्य के छोड़ने का एक परीक्षण इसी महीने होना है |

आपको ज्ञात ही होगा कि ब्रह्मोस मिसाइल को भारत और रूस ने मिलकर संयुक्त रूप से तैयार किया है | यह मिसाइल दुनिया की सबसे तेज सुपरसोनिक मिसाइल है | भारत दुनिया का एकमात्र ऐसा देश है जिसके विमानों में ब्रह्मोस जैसी दुनिया की सबसे तेज मार करने वाली मिसाइल को लगाया जा रहा है |

ब्रह्मोस एयरोस्पेस के मुख्य कार्यकारी अधिकारी (सीईओ) और प्रबंध निदेशक सुधीर मिश्र ने बताया है कि, ‘ हम इस महीने 24 अगस्त तक एक ड्रॉप परीक्षण करने की उम्मीद कर रहे हैं | ड्रॉप परीक्षण से विमान की मिसाइल छोड़ने वाली यंत्रावली का परीक्षण होगा | उन्होंने यह भी कहा है कि यह परीक्षण राजस्थान के पोखरण फायरिंग रेंज में किया जाएगा और इसका अंतिम परीक्षण बंगाल की खाड़ी में नौसेना की सेवा से हटा दिए गए एक पोत पर निशाना साधकर किया जाएगा |

हिंदी समाचार- से जुड़े अन्य अपडेट लगातार प्राप्त करने के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज और आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here