प्रस्तावित ओडीएफ ग्रामों में आज जिला पंचायत राज अधिकारी सुरेश चंद्र मिश्रा ने किया निरीक्षण

0
95

मैनपुरी (ब्यूरो) स्वच्छ भारत मिशन के अंतर्गत विकास खण्ड किशनी के प्रस्तावित ओडीएफ ग्रामों में आज जिला पंचायत राज अधिकारी सुरेश चंद्र मिश्रा और जिला परियोजना समन्वयक नीरज शर्मा ने निरीछण किया और ग्रामों में लोगों को सहमति पत्र के आधार पर शौचालय निर्माण के लिए प्रेरित किया। जिला पंचायत राज अधिकारी ने विकास खण्ड पर पंचायत सचिवों से कहा कि सभी ग्राम पंचायतों के रजिस्टर बना लिए जायें उनके निरीक्षण के दौरान अगर ग्राम पंचायतों का रजिस्टर नहीं मिलाए तो सम्बन्धित के विरुद्ध कड़ी कार्यवाई की जाएगी।

सफाई कर्मचारी निरीछण के दौरान गांव में नहीं मिल रहे हैंए काम पर अनुपस्थित मिलने वाले सफाई कर्मी अब निलंबित होंगे। सभी सफाई कर्मी की अब डायरी होगी जिसमें प्रतिदिन के कार्य का विवरण दर्ज करना होगा। गाँव मे सफाई कर्मी का उपस्थित रजिस्टर भी मौके पर मिलें।शौचालय निर्माण की फ़ोटो अपलोडिंग में सुधार करें सभी पंचायत सचिव। चौदहवें वित्त और चतुर्थ राज्य वित्त की एक्शन प्लस पर फीड कार्ययोजना के आधार पर ही मौके पर कार्यों का सत्यापन होगा।

अरविंद ग्राम पंचायत अधिकारी का फोन भी स्विच ऑफ मिला और वह ब्लॉक पर भी नहीं मिले। बसैत के पंचायत घर और शौचालयों का भी सत्यापन किया गया। जिस गांव में निरीछण के दौरान शौचालयों में कंडे या लकड़ी या कुछ अन्य सामान मिला तो उस गांव के सफाई कर्मी और पंचायत सचिव का उस दिन का बेतन काट दिया जाएगा। जिला पंचायत राज अधिकारी ने चौदहवें वित्त के कामों का भी निरीछण किया। ईसापुर, दिखतमा, बडेपुर, पूरनपुर, मथुरियाहार, बरुआ, हार, नगला, गोकुल, बसैत, ख़िदर, पुरबसैत के लोगों को बताया गया कि सहमति पत्र के आधार पर शौचालय निर्माण करने पर लाभार्थी के खाते में 6.6 हजार की दो किस्तों में 12 हजार की प्रोत्साहन धनराशि दी जाएगी।

जिन लोगों को सहमति पत्र लेना है, वह विकास खण्ड में सहायक विकास अधिकारी पंचायत कार्यालय से प्राप्त कर सकते हैं। महेश एराजेश सतीश अवतार सिंह और संजू सिंह गांव में नहीं मिले। प्रधानों ने बताया कि सफाई कर्मी गांव में रोज नहीं आते हैं। जिला परियोजना समन्वयक ने बताया कि जो लोग सरकारी सेवक हैंए या बड़े काश्तकार हैं उन्हें अपने शौचालय स्वयं के संसाधन से बनाने होंगे। ओडीएफ गांव होने पर गांव को वाई-फाई की सुविधा सहित अन्य सुविधाएं मिलेंगी। जो लोग अपना शौचालय सहमति पत्र के आधार पर नहीं बनाएंगे उनके शौचालय ग्राम पंचायत द्वारा बनवाये जाएंगे। सभी लोग अपने शौचालय में जंक्शन चेंबर और रूरल सीट जरूर लगवाएंगे। सेप्टिक टैंक का शौचालय बनाने पर प्रोत्साहन धनराशि नहीं मिलेगी। प्रधान बडेपुर आदेश कुमार संजीव मिश्राएप्रभा पांडेय, रमाशंकर तिवारी, सहायक विकास अधिकारी पंचायत ओमप्रकाश तिवारी, रामौतार पंचायत सचिव, पुष्पेन्द्र, स्वतंत्र, रजनेश अमित कुमार ग्रामवासी आदि मौजूद रहे।

रिपोर्ट – दीपक शर्मा

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here