टूट गया सुशील कुमार का ओलंपिक जाने का सपना, अदालत ने अश्वीकार की उनकी याचिका

0
275

रिओ ओलंपिक के लिए कुश्ती में जगह बनाने वाली सुशील कुमार की याचिका आज हाई कोर्ट ने ख़ारिज कर दी है | न्यायमूर्ति मनमोहन ने कहा कि बेशक वो एक महान खिलाडी हैं ,उन्होंने 66 किलो वर्ग में बेहतरीन प्रदर्शन किया है किन्तु 74 किलो वर्ग में नरसिंह पंचम यादव बेहतर हैं | अदालत ने ये भी कहा कि सुशील ने बिना चयन ट्रायल के ही पिछले ओलिंपिक खेले हैं और चूँकि अगस्त में ओलंपिक है और चयन प्रक्रिया में खिलाड़ी के घायल होने की संभावना होती है , अतः आपकी याचिका स्वीकार नहीं कि जा सकती |

अदालत ने कुश्ती महासंघ के उपाध्यक्ष राज सिंह को नोटिस जारी करके पुछा कि झूठा हलफनामा देने के लिए उनके खिलाफ़ कार्यवाई क्यूँ न कि जाए ? निशानेबाजी में भारत को ओलंपिक में गोल्ड मेडल दिलाने वाले अभिनव बिंद्रा का मानना है कि प्रतिस्पर्धी प्रतियोगितायों से दूर रहना स्टार सुशील कुमार के लिए बुरा साबित हुआ |

बिंद्रा ने कहा ,”उसके साथ स्थिति काफ़ी जटिल थी |असल में सभी महासंघों को अपनी नीतियों को लेकर स्पष्ट होना चाहिए और उन्हें खेलों के लिए खिलाडियों कि क्‍वालीफिकेशन प्रक्रिया शुरू होने से पहले इसे सार्वजनिक कर देना चाहिए | एक टीवी चैनेल में दिए अपने इंटरव्यू में उन्होंने कहा,”सुशील महान खिलाडी हैं | उन्होंने जो हासिल किया है उससे इंकार नहीं किया जा सकता लेकिन हमने पिछले दो वर्षों से प्रतियोगिता में उसे हिस्सा लेते हुए नहीं देखा यह शायद उसकी चोट के कारण था लेकिन यह उसके खिलाफ गया |”

बिंद्रा ने ट्वीट करते हुए भी कहा ,” उसको बाहर से नरसिंह का समर्थन करने के लिए रियो जाना चाहिए। इससे उसका दर्जा बढ़ेगा।”

हिंदी समाचार- से जुड़े अन्य अपडेट लगातार प्राप्त करने के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज और आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं |

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY