राष्ट्रीय कुष्ठ निवारण कार्यक्रम के तहत प्राइमरी पाठशाळा में स्वास्थ्य शिविर का आयोजन किया गया

0
104

जालौन (ब्यूरो)- राष्ट्रीय कुष्ठ निवारण कार्यक्रम के तहत मुख्य चिकित्साधिकारी डाॅ. अल्पना बरतारिया की अध्यक्षता एवं डाॅ. देवेंद्र कुमार भिटौरिया के संचालन में कैलिया स्थित प्राइमरी पाठशाला में स्वास्थ्य शिविर का आयोजन किया गया। जिसमें लगभग 500 मरीजों का स्वास्थ्य परीक्षण किया एवं दवा वितरण के साथ चिकित्सकीय सलाह भी दी गई।

मुख्य चिकित्साधिकारी डाॅ. अल्पना बरतारिया ने कार्यक्रम में उपस्थित लोगों को संबोधित करते हुए कहा कि कार्यक्रम का उद्देश्य समाज को कुष्ठ मुक्त करने के साथ ही कुष्ठ रोग से पीड़ितों का पुर्नवास करना भी है। ग्रामीणों को कुष्ठ रोग की जानकारी के साथ उपचार के प्रति जागरूक करने के लिए जिला स्वास्थ्य समिति के तत्वावधान में राष्ट्रीय कुष्ठ निवारण कार्यक्रमों का आयोजन किया जा रहा है।

ग्रामीणों को बेहतर स्वास्थ्य सेवाऐं उपलब्ध कराने के लिए प्राइमरी पाठशाला कैलिया में आयोजित स्वास्थ्य शिविर में डाॅ. अनुपमा पाल राजपूत, आयुष चिकित्सक डाॅ. नीलम राय, डाॅ. शारदा शरण, दंत चिकित्सक डाॅ. अजय शर्मा की टीम ने लोगों का स्वास्थ्य परीक्षण किया। जिसमें ग्राम सलैया, सामी, बरहल, ब्योना राजा, पीपरी के साथ कैलिया गांव के तकरीबन 5 सैंकड़ा से अधिक लोगों का स्वास्थ्य परीक्षण किया गया।

इतना ही नहीं मरीजों को निःशुल्क दवा वितरण के साथ चिकित्सकीय सलाह भी दी गईं चिकित्सकों ने मरीजों को ब्लड प्रेशर, शुगर, मौसम जनित बीमारियों में उल्टी, दस्त, मलेरिया बुखार आदि के उपचार के साथ उनके बचाव के उपाय भी बताए। शिविर में लालाराम निरंजन, उमराव सिंह गुर्जर, शिशुपाल सिंह चंदेल, लालजी तिवारी, अनिल कुमार, गीता त्रिपाठी, विनय बाजपेई, जयचंद्र सुमन, रमेश वर्मा, रमेश गुप्ता, प्रदीप पटेल, लखन सिंह, बसंतलाल, दिलीप कुमार, रजनी याज्ञिक, राजेश्वरी, बंदना, रेशमा परवीन, चंद्रकुमारी, सुनीता पाल, उमा दुबे समेत तमाम लोगों ने सहयोग किया।

रिपोर्ट- अनुराग श्रीवास्तव 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here