लोग तुम्हारी स्तुति करें या फिर निंदा

0
341

लोग तुम्हारी स्तुति करें या फिर निंदा

लक्ष्मी तुम्हारे ऊपर कृपालु हों या फिर न हों

तुम्हारा देहांत आज हो या फिर एक युग में

तुम न्याय पथ से कभी भी भ्रष्ट न हो !

उठो ! जागो और तब तक न रुको जब तक लक्ष्य की प्राप्ति न हो जाय !!

 swami vivekanand10

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY