बाढ़ की विभीषिका झेल रहे गांवों का मंत्री स्वाति ने किया निरीक्षण, जाना पीड़ितों का दर्द

0
64

बलिया (ब्यूरो) -: राज्य मंत्री स्वतंत्र प्रभार स्वाति सिंह ने मंगलवार को बाढ़ एवं कटान क्षेत्रों का जायजा लिया। ककरघटा में प्रशासन व बाढ़ विभाग के अधिकारियों के साथ पहुंची मंत्री ने ग्रामीणों से कटान सम्बन्धी जानकारी ली। भरोसा दिलाया कि कटान की समस्या का स्थाई समाधान होगा। अगले साल बरसात शुरू होने से पहले मजबूती से कटानरोधी कार्य कराए जाएंगे। कटान व बाढ प्रभावित गांव क्षेत्र के ककरघटा, नवका गांव में बाढ़ राहत राज्य मंत्री स्वाति सिंह ने ग्रामीणों से बातचीत कर उनकी समस्याएं जानी। ग्रामीण विशेषकर दर्जनों महिलाओं ने एकस्वर से अपने गांव को बचाने की गुहार लगाई। राज्यमंत्री ने बाढ़ खण्ड के अधिकारियों से कहा कि इस गांव पर कटान का खतरा मंडरा रहा है। बाढ़ का पानी उतरने के बाद ही प्रोजेक्ट पर काम होना चाहिए।

हर हाल में अगले साल मई से पहले स्थायी समाधान निकाला जाए। पीड़ितों ने यह भी सवाल किया कि इससे पहले भी आश्वासन मिलते रहे लेकिन कोई पहल नहीं हुई। मंत्री ने फिर दोहराया कि अगले बरसात से पहले स्थाई समाधान निकल जाएगा। उन्होंने बाढ विभाग के अधिकारियों से अब तक हुए बचाव कार्यों के बारे में पूछताछ की। एक्सईएन अशोक कुमार ने बताया कि पूरे जिले 47 करोड़ का प्रोजेक्ट पास है। मंत्री ने ककरघटा गांव के प्रोजेक्ट पर तेजी से कार्यवाही करने का निर्देश दिया। इस मौके पर बाढ़ विभाग के अधिकारियों के अलावा एडीएम मनोज कुमार सिंघल, एएसपी विजय पाल सिंह, सीओ बाँसडीह अशोक सिह, तहसीलदार बाँसडीह शिवसागर दूबे, लेखपाल राजेश कुमार, प्रधान रामाशंकर यादव, पशु चिकित्सक प्रेम शंकर सिंह आदि उपस्थित थे।

सीएचसी को चालू कराने की मांग
कटान का दौरा कर लौट रही स्वाति सिंह रास्ते में खड़े रिगवन गांव के लोगों से मिलीं। ग्रामीणों ने मांग किया कि एक दशक से बन चुकी सीएचसी आज तक चालू नहीं हुई। अधिकारियों व जनप्रतिनिधियों से गुहार लगाई गई, लेकिन कोई सुनवाई नहीं हुई। इस पर मंत्री ने आश्वासन दिया कि इस पर अधिकारियों से वार्ता होगी। जरूरत पड़ने पर शासन स्तर को अवगत कराया जाएगा। हर हाल में नव निर्मित सीएचसी को चालू कराया जाएगा।

अधिकारियों संग की बैठक
बलिया: राज्यमंत्री स्वतन्त्र प्रभार स्वाति सिंह ने बाढ़ को लेकर स्थानीय डाकबंगले में जिला प्रशासन के साथ बैठक कर राहत कार्यों की समीक्षा की। उन्होंने कहा कि हर क्षेत्र में स्थिति पर नजर बनाए रखें। हर पीड़ित को राहत सामग्री मिल जाए। कटान के लिहाज से बन्धों की सुरक्षा पर विशेष सतर्कता बरतने के निर्देश दिए। बैठक में डीएम भवानी सिंह खंगारौत, एसपी श्रीपर्णा गांगुली, एडीएम मनोज सिंघल, बाढ़ एक्सईएन अशोक कुमार मौजूद थे।

By-Ajit Ojha

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here