सीरिया में युद्ध विराम पर बनी सहमति लेकिन ISIS पर हमले जारी रहेंगे

0
422

यूनाइटेड नेशन – 5 सालों से लगतार युध्ग्रस्त और अपनी निजी परेशानियों से जूझ रहे सीरिया की याद आखिरकार यूनाइटेड नेशन और उसके सदस्य देशों को आ ही गयी I भारतीय समय के अनुसार आज शनिवार को न्यूयार्क स्थित यूनाइटेड नेशन के कार्यालय में सर्वसहमति से सीरिया में शांति बहाली का प्रस्ताव पारित किया गया I हालाँकि इस प्रस्ताव में यह भी साफ़ कर दिया गया है कि ISIS के खिलाफ किये जा रहे हमलों को नहीं रोका जाएगा ISIS का खात्मा जब तक नहीं हो जाता है तब तक यह हमले जारी रहेंगे I

सीरिया की सरकार और विद्रोही गुटों के बीच अब होगी बातचीत –

आपको यहाँ पर यह बताना बहस महत्त्वपूर्ण है कि अब सीरिया की सरकार और सरकार के खिलाफ जंग लड़ रहे विद्रोही गुटों के बीच अब संघर्ष विराम की बातचीत हो सकती है I लेकिन यहाँ पर एक बात और अधिक महत्त्वपूर्ण है कि इन दोनों को ही बातचीत के लिए कैसे और कौन तैयार करेगा I लेकिन इस सबके बीच सीरिया की वर्तमान सरकार के लिए सबसे बड़ी चुनौती यह होगी कि उसे ध्यान रखना होगा कि ISIS अब और सीरिया में अपने पैर न जमा सके और रूस, अमेरिका, फ्रांस जो भी देश ISIS के खिलाफ हवाई हमले कर रहे है वह अपने हमले जारी रखेंगे I

सीरिया में अब और लोग न मारे जाये – बान की मून

यूनाइटेड नेशन के अध्यक्ष बान की मून ने कहा है कि हमें अब इस बात पर ध्यान देना होगा कि संकटग्रस्त सीरिया में अब और लोग नहीं मारे जाने चाहिए I न्यूयार्क के यू.एन. कार्यालय में हुई इस बैठक में स्पेन, ब्रिटेन, अमेरिका, रशियन फेडरेशन सहित 15 काउंसिल मेंबर शामिल हुए I इस प्रस्ताव के विरूद्ध आज एक भी वोट नहीं डाला गया I 15 के 15 मेंबर इस बात से सहमत थे कि अब सीरिया में और अधिक खून खराबा नहीं होना चाहिए I

असद को स्तीफा दे देना चाहिए – ओबामा

एक ओर जहाँ यू.एन. ने सीरिया में संघर्ष विराम का उल्लेख किया है और यह कहा है कि अब सीरिया में और अधिक खून खराबा नहीं होना चाहिए ऐसे में दूसरी ओर अमेरिका के राष्ट्रपति बराक ओबामा ने एक बार फिर से अपनी बात को दोहराया और कहा है कि सीरिया के वर्तमान राष्ट्रपति असद को अपने पद से स्तीफा दे देना चाहिए और उन्होंने यह भी कहा है कि सीरिया में एक ऐसी सरकार का गठन होना चाहिए जो उन इलाकों में भी शांति कायम कर सकें जहाँ आजकल अशांति का महौल है I

5 साल के भीतर हुआ है भीषण नरसंहार –

सीरिया में पिछले पांच से चले आ रहे गृहयुद्ध के चलते तक़रीबन 2.5 लाख लोगों की मौत हो गयी है और तक़रीबन 6 करोंड लोगों को अपना घर छोड़कर किसी अन्य देश में शरण लेनी पड़ी है I यह सयुंक्त राष्ट्र संघ की रिपोर्ट ने बताया है I

आपको ज्ञात हो कि सीरिया में दो गुट है एक जो राष्ट्रपति बसद अल असद का है तो दूसरा उनका विरोधी गुट है I पिछले पांच सालों से इन्ही दोनों गुटों के बीच ही सीरिया में भीषण युद्ध चल रहा है I तो वही दूसरी तरफ अकेले ही इन दोनों से कहीं अधिक नरसंहार कर रहा है I ISIS ने अकेले ही सीरिया और ईराक के काफी हिस्से पर कब्ज़ा कर रखा है I

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here