तेदमुंता बस्तर अभियान

0
26

सुकमा/छत्तीसगढ़ (रा.ब्यूरो)-  जिले में पुलिस महानिरीक्षक श्री विवेकानंद सिन्हा, उपपुलिस महानिरीक्षक श्री रतन लाल डांगी, पुलिस अधीक्षक श्री अभिषेक मीना, अतरिक्त पुलिस अधीक्षक श्री शलभ सिन्हा, श्री संजय महादेवा के मार्गदर्शन में चलाये जा रहे नक्सल विरोधी तेदमुंता बस्तर अभियान के तहत विगत दिनों हमने एक संयुक्त प्रयास के तहत Crpf Dig श्री एलांगो सर एवम Co 74 बटालियन श्री प्रवीन कुमार के कुशल नेतृत्व में ग्राम जग्गावरम के ग्रामीणों के साथ बैठक ली। साथ ही Crpf 150 बटालियन के डॉक्टर श्रीनिवास द्वारा मेडिकल कैम्प लगाकर ग्रामीणों को चिकित्सा सुविधा उपलब्ध कराई गई।

थाना पोलमपल्ली से लगभग 12 km दक्षिण दिशा में स्थित यह ग्राम नक्सल दृष्टि से अति संवेदनशील ग्राम है, जग्गावरम के ग्रामीणों के साथ ली गयी बैठक में माओवादियों के आतंक एवम डर ग्रामीणों के अंदर साफ दिखलाई दे रहा था। उन्होंने बहुत डरे सहमे हुए हमारे पूछने पर बताया कि माओवादी आतंक के कारण वे सरकार की विकास योजनाओं का लाभ नही ले पा रहे है। वे ना सोसायटियों से राशन ले पा रहे है, ना ही मनरेगा के तहत काम कर पा रहे है, वृद्धावस्था पेंशन योजना, प्रधानमंत्री आवास योजना आदि जैसी कोई भी योजना का चाहते हुए भी, लाभ नही उठा पा रहे है।
जग्गावरम गांव में मुख्यतः मुड़िया जनजाति के लोग निवास करते है, जो गोंडी बोली बोलते है, ग्राम की अधिकांश जनता अशिक्षित है, यहाँ शिक्षा के प्रति ग्रामीणों को जागरूक किया गया एवम वहाँ उपस्थित सभी ग्रामीणों को अपने बच्चों को स्कूल भेजने हेतु प्रेरित किया गया। हमने बताया कि शिक्षा एवम एकता के द्वारा हम माओवाद का खात्मा कर सकते है।

अभियान के तहत हमने ग्रामीणों को माओवाद का इतिहास बताया और बताया कि कैसे माओवादी बस्तर में आये और अपनी झूठी बातों में आपको फसाकर अपने चंगुल में कर लिया। तेदमुंता बस्तर अभियान के तहत हम जिस भी नक्सल प्रभावित ग्रामों में गए है, हमने देखा है कि, माओवादियों ने ना केवल विकास को ग्राम में पहुँचने से रोका है, अपितु ग्राम की ऐतिहासिक परंपरा एवम व्यवस्था को भी नष्ट कर दिया है।

जैसे माओवादियों के आने के पूर्व हर ग्राम में मुखिया, पटेल, पेरमा या पुजारी हुआ करता था जो ग्राम की समस्या या विवाद का समाधान करता था लेकिन आज उनका स्थान नक्सलियों के आंतक ने ले लिया है। हमने वहाँ उपस्थित सभी ग्रामीणों से उस पुरानी व्यवस्था को पुनः स्थापित करने हेतु प्रेरित किया। उक्त बैठक में Crpf 74 बटालियन के 2ic श्री सोनी, 150 बटालियन के 2ic श्री मनीष, Sdop दोरनापाल विवेक शुक्ला, Crpf 150 के डॉक्टर श्री श्रीनिवास पोलमपल्ली थाना प्रभारी संजय शिंदे एवम Stf तथा जिला बल उपस्थित थे।।

रिपोर्ट – मनीष सिंह/हरदीप छबड़ा 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here