तहसील दिवस में यदि चकरोड, पट्टे की भूमि पर कब्जे की शिकायत मिली तो संबंधित लेखपाल निलम्बित होगें जिलाधिकारी

0
192

 

credit-patrika

मैनपुरी (ब्यूरो)- जिस किसी भी सरकारी कर्मी को निलम्बित किया जाये उसे दण्ड अवश्य मिले, कम से कम 02-03 वेतन वृद्धि रोकी जाये, सभी पट्टेदारो  की पैमाईश कराकर उन्हें दखल भी दिलाया जाये, दखल देने के बाद कब्जा करने वालों के विरूद्ध प्राथमिकी दर्ज करायी जाये। अगले तहसील दिवस में यदि चकरोड,पट्टे की भूमि पर कब्जे की शिकायत मिली तो संबंधित लेखपाल निलम्बित होगें। लेखपाल अपने-अपने गांव के चकरोडो की पैमाईस कर कब्जा मुक्त कराकर संबंधित खण्ड विकास अधिकारी को सूचीं उपलब्ध कराये , वह चकरोडों पर मनरेगा से मिट्टी का कार्य कराना सुनिश्चित करें। 05 वर्ष पूर्व किये गये सभी पट्टों को संक्रमणीय किया जाये।

तहसील समाधान दिवस में प्राप्त शिकायतो का निर्धारित समय सीमा 03 दिन में निस्तारित कर आख्या उपलब्ध करायें, स्वयं संतुष्ट होने पर ही निस्तारण आख्या भेज,े सभी लेखपाल,ग्राम पंचायत विकास अधिकारी दैनिक डायरी भलीभांति भरें, गांव में जाने पर किन्हीं 02 व्यक्तियों के हस्ताक्षर अवश्य करायें , विवाद निपटने की दशा में पक्ष-विपक्ष के साथ प्रधान,सभ्रान्त व्यक्तियों के हस्ताक्षर ,मोबाइल नम्बर अवश्य लिखा जाये। उक्त निर्देश जिलाधिकारी यशवन्त राव ने तहसील समाधान दिवस के अवसर तहसील घिरोर  में जन शिकायतो को सुनने के उपरान्त अधिकारियों को दिये।

उन्हांेने असन्तोष व्यक्त करते हुए कहा कि तहसील दिवस में अधिकांश शिकायतें अवैध कब्जे की मिल रही हैं। पट्टों ,चकरोडों,तालाबों,सार्वजनिक भूमि पर कब्जे हैं। क्षेत्रीय लेखपाल द्वारा कोई कार्यवाही नहीं की जा रही है। अवैध कब्जे की दशा में पुलिस बल के साथ मौके पर जाकर कब्जे हटवायें। भीषण गर्मी में पीने के पानी की उपलब्धता पर ध्यान दिया जाये जहां भी हैण्डपम्प खराब हैं उन्हें तत्काल ठीक कराया जाये। उन्होंने उपस्थित अधिकारियों से कहा कि वह इस दिवस पर प्राप्त शिकायतों के महत्व को समझें और व्यक्तिगत जिम्मेदारी मानकर समस्याआंे ंको निपटायें। जन शिकायतों के निस्तारण में यदि किसी के द्वारा लापरवाही बरती गयी या निर्धारित समयावधि में शिकायत का निस्तारण न किया तो उसे दण्डित किया जायेगा।

आज आयेाजित तहसील दिवस में  घिरोर के  दूर-दराज ग्रामीण क्षेत्रान्तर्गत आये 90 फरियादियों ने अपने शिकायती पत्र निराकरण हेतु प्रस्तुत किये जिनमें से 28 शिकायतांे को मौके पर निस्तारण कर फरियादियांे को तत्काल राहत प्रदान की। शाहजहांपुर निवासी प्रताप सिंह ने चकरोड सं. 233 से अवैध कब्जा हटवाये जानेें, अलालपुर निवासी हम्बीर सिंह न चकरोेड मार्ग 1817 की पैमाईश कराने, नाहिल कठेगरा निवासी हरनाथ ने संक्रमणीय भूमि से कब्जा हटवाने ,मानपुर निवासी झाऊ लाल ने कुलाबा नं0 17 की नाली बन्द कराने, देवपुरा ओंछा निवासी पे्रम सिंह ने दबंगांे के द्वारा खेत व बोंिरंग पर से कब्जा हटवाने, कल्होरपछां निवासिनी कुसुम ने आवास दिलाने हेतु प्रार्थना पत्र प्रस्तुत किये।

पुलिस अधीक्षक राजेश कुमार एस ने पुलिस से संबंधित ,मुख्य विकास अधिकारी विजय कुमार गुप्ता ने विकास से संबंधित शिकायतो को सुना और अधीनस्थों को तत्काल प्रभावी कार्यवाही के आदेश दिये। इस मौेके पर उप जिलाधिकारी  घिरोर देवेन्द्र कुमार, मुख्य पशु चिकित्साधिकारी डा. योगेश कुमार सारस्वत,सहायक निदेशक मत्स्य बी.लाल, अधिशासी अभियन्ता विद्युत ए.के.पाण्डेय, अग्रिण जिला प्रबन्धक,डी.के.अग्रवाल,अधिशासी अभियन्ता जल निगम आंेमवीर दीक्षित, लोक निर्माण जितेन्द्र कुमार बागा, उप निदेशक कृषि यूबीसिंह गौतम, आचार्य टीईपी सेन्टर जे.के.त्रिवेदी , जिला कृषि अधिकारी पी.सी.विश्वकर्मा, तहसीलदार घिरोर विनोद जोशी सहित अन्य संबंधित अधिकारी उपस्थित रहे।

रिपोर्ट- दीपक शर्मा

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here