तहसील दिवस पर वकीलों ने जमकर काटा बवाल, घण्टों ठप रहा तहसील दिवस कार्य

0
56

लालगंज/प्रतापगढ़ (ब्यूरो)- जिले की लालगंज तहसील के वकीलों ने मंगलवार को तहसील दिवस पर जमकर हंगामा काटा। आक्रोशित वकीलो के विरोध प्रदर्शन के चलते तहसील दिवस का कार्य काफी देर तक ठप्प रहा। पूर्व अध्यक्ष धनंजय मिश्रा ह्त्याकांड का पूर्ण खुलासा न होने से आक्रोशित वकीलों की एसडीएम से चली नोक-झोक के बीच अफसरों को चूड़ियां भेंट करते हुए वकील धरने पर बैठ गए।

सूचना मिलते ही आनन फानन में एएसपी, एडीएम आदि अफसर तहसील लालगंज पहुचे। अफसरों के घण्टों मान मनौव्वल के बाद वकील किसी तरह शांत हुए। तब कहीं जाकर तहसील दिवस फिर से शुरू हो सका।

आपको बता दें कि बार के पूर्व अध्यच्छ अधिवक्ता धनंजय मिश्र की बीते कुछ माह पूर्व गोली मारकर हत्या कर दी गई थी। हत्या के खुलासे को लेकर पुलिस प्रशासन अभी तक महज कोरा आश्वासन ही देता चला आ रहा है। साथी की हत्या का खुलासा न होने से मंगलवार को तहसील दिवस पर वकील आक्रोशित हो उठे। सँयुक्त अधिवक्ता संघ अध्यच्छ देवी प्रसाद मिश्र की अगुवाई में नारेबाजी करता वकीलो का हुजूम तहसील सभागार पहुंचा और एसडीम से तहसील दिवस समाप्त कर देने की बात पर अड़ गया। इसे लेकर वकीलो की एसडीएम से काफी देर तक तीखी नोक झोंक होती देखी गई।

इसी बीच वकीलो ने अफसरों को चूड़ी भेट करते हुए अधिवक्ता हत्याकांड का अभी तक खुलासा न होने को लेकर तल्ख नाराजगी जताई व सभागार में ही धरने पर बैठ गए। नारेबाजी करते वकीलो ने सभागार में ही धरना शुरू कर दिया। वकीलो का गुस्सा भांप एसडीएम, नायब तहसीलदार सभागार से निकलकर डांकबंगले में पहुचे और आला अफसरों को मामले से अवगत कराया।

मामले की जानकारी होते ही देखते देखते तहसील परिसर पुलिस छावनी में तब्दील हो गया। इधर धरने पर बैठे संयुक्त अधिवक्ता संघ के अध्यक्ष देवी प्रसादं मिश्र, उपाध्यक्ष सुरेन्द्र सिंह, महामंत्री संदीप सिंह, पूर्व अध्यक्ष ज्ञान प्रकाश शुक्ल, राव वीरेन्द्र सिंह, ओंकार नाथ क्रांतिकारी, शिवा कांत उपाध्याय, बेनी लाल शु क्ल, राजबहादुर पटेल, हरिशंकर द्विवेदी, राम मोहन सिंह, के बी सिंह, टी पी यादव, सतीश उपाध्याय, पूर्व महामंत्री संतोष पाण्डेय आदि जमकर विरोध प्रदर्शन करते दिखे।

रिपोर्ट- चंद्र शेखर तिवारी

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY