भारी फोर्स के बीच कोर्ट द्वारा निर्णीत जमीन की नायब तहसीलदार ने कराई पैमाइश, खाली पड़ी जमीन पर दिलाया खातेदार को कब्जा


प्रतापगढ़ (ब्यूरो) कोर्ट द्वारा मुकदमे के बाद भी पैमाइश और पत्थर गड़ी होने के बाद भी खातेदार को कब्जा न मिलने पर खातेदार ने जनसुनाई पर शिकायत की तो गुरुवार को नायब तहसीलदार ने आधा दर्जन लेखपालों और भारी फोर्स के साथ जमींन की पैमाइश कराई। जिसमे कुछ हिस्सों पर अतिक्रमण पाया । खातेदार को खाली पड़ी जमींन पर फोर्स के बीच कब्जा दिलाया गया।

महेशगंज थाना क्षेत्र के हीरागंज बाजार निवासी बंशी लाल पुत्र स्व. बद्री प्रसाद गुप्ता की बाजार में ही गाटा संख्या 3028 की भूमि धरि जमींन है। जिसकी उन्होंने एसडीएम कोर्ट से धारा – 41 के तहत पैमाइश और मेड़बंदी जुलाई 2015 में कराई थी लेकिन बगल के खातेदारों ने सारे निशान उखाड़ दिए थे। पुनः शिकायत के बाद तत्कालीन डीएम अमृत त्रिपाठी के आदेश पर एसडीएम कुण्डा अवदेश श्रीवास्तव ने पुनः पत्थर गड़ी का काम कराया था। लेकिन पुनः उक्त लोंगो ने सारे निशान उखाड़ दिए और बंशी लाल द्वारा निर्माण कार्य करने पर आमादा फौजदारी हो जाते थे, लगातार शिकायत करने के बाद गुरुवार को जनसुनवाई की शिकायत का संज्ञान लेने के बाद एसडीएम के आदेश पर नायब तहसीलदार ने पुनः जमींन की पैमाइश कराकर पत्थर गड़ी का का काम कराकर सीमांकन करके सीमा विवाद को खत्म किया। नाप के दौरान अंजुमत पत्नी हबीबुल्ला और महबूब पुत्र हबीबुल्ला का पूरा घर बंशी लाल की जमींन में निर्मित पाया गया। इस दौरान नायब तहसीलदार कुण्डा बृजमोहन शुक्ल, कानूनगो हीरागंज कृष्ण मुरारी, के साथ पारस नाथ, कृष्ण कुमार तिवारी, मेवालाल, विष्णु लेखापलो के अलावा एसआई कल्लू यादव के साथ भारी फॉर्स, सैकड़ो की संख्या में ग्रामीण और कई अधिवक्ता मौजूद रहे।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here