ब्रिटिश ब्रिज की जर्जर स्थिति को लेकर एसडीओ से की वार्ता

0
44

धनबाद/कुमारधुबी: झारखण्ड और पश्चिम बंगाल को जोड़ने वाले ब्रिटश सम्राज्य का ब्रिज जिसका निर्माण सन 1916 में ब्रिटश सम्राज्य द्वारा किया गया था। सौ साल का यह ब्रिज आज जर्जर अवस्था मे हैं। जिला प्रशासन द्वारा ब्रिज के समीप होडिंग लगाया गया है कि भारी मालवाहक तथा बड़ी गाड़ियों का इस ब्रिज पर चलना वर्जित हैं, लेकिन सारे नियमो को ताख पर रखकर इस ब्रिज पर प्रतिदिन सैकड़ो मालवाहक तथा बड़ी वाहनों का आवागवन बदस्तूर जारी हैं।

ब्रिज से सटे महज चंद मीटर पर ही चिरकुण्डा थाना हैं मगर प्रशासन, पीडब्लूडी कि मिली भगत से सारे नियमो को ताख पर रख कर प्रति दिन सैकड़ो बड़ी गाड़िया बेखौफ़ होकर दौड़ रही हैं। ब्रिज के दोनों छोर पर लगे लोहे के पिलर को हटा दिया गया हैं, ताकि मालवाहक आसानी से अपने गाड़ियों को ले जा सके जिसके कारण झारखण्ड सरकार को प्रतिदिन लाखो की राजस्व की क्षति हो रही हैं।

शुक्रवार को सांसद प्रतिनिधि संदीप चटर्जी ने एसडीओ और पीडब्लूडी से वार्ता कर ब्रिज की स्थिति से उन्हें अवगत कराया। साथ ही इस धरोहर को जल्द सें जल्द बड़ी वाहनों पे रोक लगाने की माँग की। जिस पर प्रशासन के अधिकारी बड़ी वाहनों के रोक-थाम के लिए युद्ध स्तर पर कार्य जारी किया।

रिपोर्ट- गणेश कुमार 

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY