अब दवाओ को मात देने लगा टीबी

0
47

गोरखपुर (ब्यूरो)- टीबी अब दवाओ को भी मात देने लगी है एमडीआर टीबी के मरीजो की तादात लागातार बढ रही है एक अनुमान के अनुसार पुराने मरीजो मे तीन से चार फीसदी से अधिक एमडीआर टीबी से पीडित पाये जा रहे है गंभीर यह है कि एमडीआर के इलाज का तरीका तो कठिन है ही यह सामान्य टीबी की अपेक्षा काफी महंगा है|

बरिष्ठ सीना रोग विशेषज्ञ डा.नदीम अर्शद के अनुसार टीबी बेहद संक्रामक रोग है जो माइक्रोबैक्टिरीयम नामक जीवाणु से होता है यह अक्सर फेफड़ो मे पाया जाता है लेकिन इसके अलावा अन्य अंग आंत,मस्तिष्क हड्डियां,जोड़,गुर्दे,त्वचा आदि भी इससे प्रभावित हो सकते है मरीज के खांसने से कीटाणु निकलते है जो वातावरण से एक दूसरे को प्रभावित करते है|

टीबी से संक्रमित रोगियों के कफ से छीकने,थूकने और उनके द्वारा छोड़े गये सांस से जीवाणु वायु मे फैल जाते है यह कई घंटो तक वायु मे रह सकते है| सिर्फ गोरखपुर जिले मे 9105 मरीज टीबी के पंजीकृत है जिला क्षय रोग अधिकारी डा.रामेश्वर मिश्र के अनुसार इनमे से 4990 का इलाज जिला टीबी अस्पताल मे चल रहा है जबकि ४११५ का इलाज नीजी चिकित्सक कर रहे है|

रिपोर्ट-जयप्रकाश यादव
हिंदी समाचार- से जुड़े अन्य अपडेट लगातार प्राप्त करने के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज और आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here