तीन ओर से नदियों से घिरे बलिया में तैनात हो गोताखोरों की टीम 

0
68


बलिया ब्यूरो : दुबहर बलिया जनपद के भौगोलिक स्थिति मैं जहां यह जनपद तीन तरफ से नदियों से घिरा हुआ है जहां प्रायः वाह जैसी विभीषिका एवं नदी में नाव डूबने जैसी भयानक घटनाएं होती रहती हैं। ऐसे में इतनी विशाल आबादी वाले इस जिले में महाजाल और प्रशिक्षित गोताखोरों की टीम का उपलब्ध ना होना यह प्रशासन की उदासीनता का परिचायक है इसको लेकर कई बार जिले के लोगों ने प्रशासन का ध्यान आकृष्ठ कराया। लेकिन इस गम्भीर समस्या पर किसी का ध्यान नही है।

 

आलम यह है कि यहां जा कोई घटना हो जाती है तो बनारस से आनन-फानन में गोताखोर बुलाये जाते है। यह तो वही बात हुई की जब प्यास लगे तब कुवाँ खोदा जाय। 2010 में ओझवलिया में नाव डूबने तथा नरही ने नाव डूबने की घटना प्रमाण है। इस गंभीर समस्या पर जनप्रतिनिधियो सहित जिमेदार अधिकारियो को मंथन करना होगा। इसके समाधान के उपाय निकालने होंगे। क्योंकि इस जनपद को प्राकृतिक आपदाओं दंश बाढ़ आग के रूप में हमेशा झेलना पड़ता है। घटना की सूचना पर गंगा घाट पर पहुंचे प्रधान संघ के मंडल अध्यक्ष विमल पाठक एवम दुबहर के प्रधान प्रतिनिधि बिट्टू मिश्रा ने तत्काल गोताखोरों की टीम एवं महाजाल बलिया में उपलब्ध कराने की मांग की।

रिपोर्ट – संतोष कुमार शर्मा

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY