अजगरा में भाजपा भासपा के बीच में प्रत्याशी को लेकर बढ़ने लगीं दरार

0
215

प्रतीकात्मक
प्रतीकात्मक

चाँदमारी वाराणसी : विधानसभा चुनाव की तैयारियाँ अब अपने चरम पर पहुँच गयी हैं जहाँ राजनीतिक दल चुनाव जीतने को लेकर हर जुगत अपनाने में लगीं हैं वहीं प्रत्याशी भी अपनी हर कोशिश में लग गये हैं l आखिरी चरण के लिये नामांकन की प्रक्रिया भी शुरू हो चुकी है तो वहीं जनपद की अजगरा विधानसभा में भाजपा और भासपा के बीच प्रत्याशी के चयन को लेकर पेंच फँस गया है l जहाँ सपा काँग्रेस गठबंधन ने लालजी सोनकर को प्रत्याशी घोषित कर दिया है तो बसपा ने भी वर्तमान विधायक त्रिभुवन राम के ऊपर दाँव लगाया है l वहीं इन सब के बीच भाजपा व भासपा के बीच प्रत्याशी के चयन को लेकर दोनों दलों के लोग आमने सामने हैं l

बता दें की भारतीय जनता पार्टी और भारतीय समाज पार्टी के बीच चुनावी गठबंधन हुआ है जिसके तहत जनपद की अजगरा विधानसभा की सीट गठबंधन के तहत भासपा के खाते में गयी है l जहाँ भासपा ने इस सीट से जिला पंचायत अध्यक्ष अपराजिता सोनकर के मामा कैलाश सोनकर को प्रत्याशी बनाया है तो वहीं भाजपा के लोग कैलाश सोनकर को प्रत्याशी मानने को तैयार नहीँ हैं l भाजपा के लोगों का कहना है की भासपा ने गठबंधन की शर्तों का उल्लंघन करते हुए प्रत्याशी घोषित किया है वहीं भासपा का कहना है कि जब सीट हमे दी गयी है तो हमारे प्रत्याशी को न मानने का कोई सवाल ही नहीँ उठता l

दरअसल भाजपाइयों का कहना है कि गठबंधन कि शर्त थी कि इस सीट से भासपा अपने सिम्बल पर भाजपा के किसी नेता को चुनाव लड़ाएगी लेकिन उसने बाहरी व्यक्ति को प्रत्याशी बना दिया है l गुरुवार को दोनों दलों के बड़े नेताओं ने बैठक कर गतिरोध दूर करने का प्रयास किया था,जहाँ भाजपा इस सीट से दिलीप सोनकर को प्रत्याशी बनाने कि मांग कर रहीं है वहीं भासपा झुकने को तैयार नहीँ है l शुक्रवार को भाजपा के एक केंद्रीय मंत्री के इशारे पर जहाँ दिलीप सोनकर ने क्षेत्र में जनसम्पर्क कर चुनाव में जाने कि अटकलों पर विराम लगा दिया तो वहीं भाजपा के चोलापुर मंडल अध्यक्ष गजेन्द्र सिंह,हरहुआ के मंडल अध्यक्ष रामदेव वर्मा, विधानसभा प्रभारी अखंड प्रताप सिंह,वाचस्पति मिश्रा,मनीष तिवारी आदि नेताओं ने कहा की यदि भासपा अपना प्रत्याशी नहीँ बदलती तो भाजपा के सिम्बल पर चुनाव लड़ने की मांग की जायेगी l वहीं इस बाबत जब भासपा के प्रदेश महासचिव शशि प्रताप सिंह ने कहा की हमारी पार्टी ने भाजपा से चुनावी गठबंधन किया है जिसके तहत अजगरा सीट से हमें चुनाव लड़ना है लेकिन भाजपा के एक केंद्रीय मंत्री अपनी महत्वाकांक्षा के कारण हमारी पार्टी पर दबाव बनाना चाहते हैं l उन्होंने कहा की हमारी पार्टी ने प्रत्याशी घोषित कर दिया है जिसे बदलने की कोई गुंजाईश नहीँ है अगर फिर भी भाजपा के लोग चुनाव लड़ना चाहते हैं तो वे निर्दल चुनाव लड़ सकते हैं l वहीं गठबंधन के सवाल पर शशि प्रताप सिंह ने कहा की हमारा गठबंधन जारी है और इस बारे में फैसला राष्ट्रीय अध्यक्ष करेंगे l अब चाहे निर्णय जो भी हो लेकिन इतना तो तय है की अजगरा में दोनों दलों के बीच दूरीया बढ़ने के कयास लगाये जाने लगें हैं l

रिपोर्ट–नागेन्द्र कुमार यादव

हिंदी समाचार- से जुड़े अन्य अपडेट लगातार प्राप्त करने के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज और आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here