शस्त्र लाइसेंस लेने के लिए शस्त्र भी चलाना होगा व नवीनीकरण के लिए भी देना होगा टेस्ट

बलिया(ब्यूरो)- जिला मजिस्ट्रेट सुरेंद्र विक्रम ने नये शस्त्र लाइसेंस निर्गत करने या पुराने लाइसेंस के नवीनीकरण के सम्बन्ध में जरूरी दिशा निर्देश दिये है। उन्होंने बताया है कि नया शस्त्र लाइसेंस जारी करने से पहले पुलिस अधीक्षक आवेदक का शस्त्र चलाने का टेस्ट लेंगे। इसमें सफल होने के बाद ही कोई विचार किया जाएगा। पहले से निर्गत हुए लाइसेंस के नवीनीकरण के लिए भी यह टेस्ट देना होगा। इन टेस्टों में खर्च होने कारतूस का व्यय लाइसेंसधारी स्वयं वहन करेगा। टेस्ट में फेल होने की स्थिति शस्त्र लाइसेंस निरस्त भी किया जा सकता है। एएसपी से विचार विमर्श के बाद निर्णय लिया गया है कि जनपद आजमगढ़ या देवरिया के फायररेंज को रिवाल्वर या पिस्टल के लाइसेंस जारी करने या नवीनीकरण के लिए प्रत्येक माह के तीसरे रविवार को टेस्ट कराया जाएगा। इसके अलावा एसबीबीएल, डीबीबीएल या राइफल के नये शस्त्र लाइसेंस या नवीनीकरण के लिए माह के दूसरे व चौथे रविवार को फायररेंज मिर्जापुर में टेस्ट लेने के लिए चिन्हित किया गया।

जिलाधिकारी ने बताया कि नया शस्त्र लाइसेंस या पुराने लाइसेंस के नवीनीकरण के समय आवेदक का सभी फिंगर प्रिंट लिया जाएगा। साथ ही आधार कार्ड भी प्रस्तुत करना होगा। नये लाइसेंस के लिए आवेदक की आर्थिक स्थिति का विवरण, आदेयता प्रमाण पत्र आदि देना अनिवार्य होगा। नये लाइसेंस लेने के 6 माह तक शस्त्र क्रय न करने पर भी लाइसेंस निरस्त कर दिया जाएगा। इसके लिए जिलाधिकारी ने पुलिस अधीक्षक, अपर पुलिस अधीक्षक व प्रतिसार निरीक्षण पुलिस लाईन को जरूरी दिशा निर्देश दिये हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here