भूकंप से निपटने के लिए प्रशासन और आपदा टीम ने किया मॉक ड्रिल

0
118

देहरादून– उत्तराखंड में भूकंप एक बड़ी समस्या है और लगातार भूकंप के झटके उत्तराखंड में महसूस किये जाते रहे हैं, जिससे बचने के लिए प्रशासन ने मॉक ड्रिल कर भूकंप से निपटने के लिए प्रयास कर रहा है , देहरादून में मंगलवार को भूकंप को लेकर प्रशासन और आपदा की टीम ने मॉकड्रिल की। गढ़वाल मंडल के सात जिलों में मंगलवार को भूकंप की मॉक ड्रिल की जा रही है। चमोली में 7.2 तीव्रता के भूकंप की सूचना पर आपदा प्रबंधन तंत्र सक्रिय हो गया है। देहरादून से लेकर गढ़वाल के विभिन्न इलाकों में रेस्क्यू ऑपरेशन किए जा रहे हैं।

आपदा प्रबंधन विभाग की ओर से अलर्ट जारी-

आपदा नियंत्रण की टीम ने क्रोस रोड माल और ओल्ड सर्वे रोड भागीरथी अपार्टमेंट पहुंची। प्रशासन, फायर ब्रिगेड, पुलिस, एसडीआरएफ और एनडीआरफ की संयुक्त टीम ने राहत एवं बचाव का कार्य शुरू किया। आपदा प्रबंधन विभाग की ओर से इसके लिए पहले ही अलर्ट जारी किया गया था।

मॉक ड्रिल आईआरएस सिस्टम के आधार पर-

बता दें कि मॉक ड्रिल आईआरएस सिस्टम के आधार पर कराई जा रही है। सभी अधिकारियों को पहले से तय जिम्मेदारियों के साथ काम करना होगा। इससे पहले आपदा प्रबंधन एवं पुनर्वास विभाग के साथ ही एनडीएमए, गृह मंत्रालय के अधिकारियों ने भी सभी विभागों के अधिकारियों को भूकंप से निपटने की तैयारियों का प्रशिक्षण दिया और बताया कि भूकंप के दौरान क्या क्या सुरक्षा बरती जानी चाहिए ।

भूकंप आने की संभावना जताई जा रही-

बता दें कि बीते दिनों उत्तराखंड में भूकंप के झटके आये थे जिस वजह से पूरा प्रदेश कॉप उठा था,उत्तराखंड में आगे भी भूकंप आने की संभावना जताई जा रही है, इसलिए प्रशासन और आपदा नियंत्रण की टीम किसी भी प्रकार का रिस्क नहीं उठाना चाहती, आपदा नियंत्रण की टीम पूरी तरह से उत्तराखंड को भूकंप से बचाने के लिए अलर्ट हो गयी है, इसी से निपटने के लिए आज प्रशासन और आपदा की टीम ने मॉकड्रिल की।

हिंदी समाचार- से जुड़े अन्य अपडेट लगातार प्राप्त करने के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज और आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं |

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY