तहसील प्रशासन पर दीवार गिराने का लग रहा आरोप

0
78

फैजाबाद: बीकापुर कोतवाली क्षेत्र के अंतर्गत ग्राम सभा असकरनपुर में तहसील प्रशासन पर दबंगई के बल पर बिना किसी आदेश के दीवाल गिराने का आरोप लगाया जा रहा है।

प्राप्त जानकारी के अनुसार ग्राम सभा असकरनपुर में हरीराम यादव पुत्र श्री नाथ व प्रेम बहादुर सिंह के बीच काफी दिनों से जमीनी विवाद चल रहा था| जिसमें दोनों पक्षों द्वारा दीवानी न्यायालय में मुकदमा संख्या 253/2017 हरीराम पुत्र श्री पाल व 169/2017 प्रेम बहादुर सिंह पुत्र श्याम बिहारी सिंह भी पंजीकृत कराया गया है। परंतु मौके पर दल बल के साथ पहुँचे उप जिलाधिकारी बीकापुर दिनेश कुमार ने करीब 7 फीट ऊंची दीवार गिरवा दी| वहीं पीड़ित हरीराम का कहना है कि बगैर हमारी किसी जानकारी के आनन फ़ानन में प्रशासन ने उक्त दीवार गिरवा दी।

पीड़ित ने यह भी बताया कि गाटा संख्या 238 में सन 1994 में 4500 रुपए में 10 एयर का इकरारनामा विपक्षी प्रेम बहादुर के पिता से खरीदा गया था और उसी जमीन पर पुराना छप्पर भी था जबकि प्रेम बहादुर का कहना है कि जमीन हमारी खतौनी की है और उस पर हरीराम द्वारा अवैध निर्माण किया गया है| मौके पर पहुंचे एसडीएम बीकापुर मय फोर्स व तहसीलदार बीकापुर, नायब तहसीलदार बीकापुर, आर आई बीकापुर व कोतवाल बीकापुर सहित करीब एक दर्जन से अधिक फोर्स के साथ नाप जोख करवाते हुए दीवाल गिरवा दी| उक्त के संबंध में उप जिलाधिकारी बीकापुर दिनेश कुमार ने बताया कि मौके पर नाप करवाने के बाद दीवाल अवैध पायी गई और प्रेम बहादुर की जमीन खाली करवा दी गई जब इस संवाददाता ने पूछा कि क्या उक्त मामला दीवानी न्यायालय में लंबित है| इस बावत आपको जानकारी है कि नहीं तो बताया गया कि दीवानी न्यायालय से संबंधित उस मामले की कोई जानकारी नहीं थी वहीं दूसरी तरफ कानूनगो बीकापुर राम विभूति तिवारी ने बताया कि उक्त मामले की जानकारी थी और उसकी रिपोर्ट बनाकर अग्रिम कार्यवाही हेतु भेजी जा चुकी है।

ऐसी दशा में पीड़ित को न्याय कैसे मिलेगा यह देखना दिलचस्प होगा जबकि दूसरी तरफ मुख्यमंत्री उत्तर प्रदेश द्वारा आदेश जारी किया गया है कि जमीनी विवाद को जांच-परख कर उचित तरीके से अबिलंब निपटाया जाए।

रिपोर्ट- यादवेन्द्र मोहन

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here