अमेरिकी सांसद ने कहा – पाकिस्तान को आतंकवाद का समर्थक देश घोषित किया जाना चाहिए, उसकी वजह से भारत और अमेरिका के रिश्तों में तल्खी आती है |

0
187
credit- CNN

वाशिंगटन– अमेरिकी कांग्रेस के बेहद प्रभावशाली सांसद और सदन की आतंकवाद संबंधी उपसमिति के अध्यक्ष टेड पो ने ने पाकिस्तान के बारे में टिपण्णी करते हुए कहा है कि पाकिस्तान को आतंकवाद का समर्थक देश घोषित किया जाना चाहिए | गुरूवार को अमेरिकी कांग्रेस एक विधेयक पेश करते हुए उन्होंने यह बातें कही | उन्होंने यह भी कहा है कि अब वह वक्त आ गया है जब अमेरिका को पाकिस्तान के खिलाफ अपनी नीतियों में परिवर्तन करने की आवश्यकता है |

पाकिस्तान स्टेट स्पांसर ऑफ टेरेरिज्म एक्ट :एचआर है विधेयक का नाम –
बता दें कि अमेरिकी कांग्रेस के वरिष्ठ सांसद ने जो सदन में विधेयक पेश किया है उसका नाम पाकिस्तान स्टेट स्पांसर ऑफ टेरेरिज्म एक्ट :एचआर है | इस विधेयक को पेश करते हुए टेड ने कहा है कि पाकिस्तान एक गैर भरोसेमंद देश है और इतना ही नहीं कई मौकों पर हमनें देखा है कि पाकिस्तान ने अमेरिका का नहीं अपितु अमेरिका के शत्रुओं का साथ दिया है |

ओसामा का दिया था साथ-
अमेरिकी कांग्रेस में बोलते हुए टेड पो ने कहा है कि पाकिस्तान के ऊपर अमेरिका को भरोषा नहीं करना चाहिए, पाकिस्तान ने कई मौकों पर अमेरिका के दुश्मनों जैसे हक्कानी नेटवर्क और यहाँ तक की ओसामा बिन लादेन को भी अपने यहाँ शरण दी थी | उन्होंने कहा कि अब वह वक्त आ गया है जब अमेरिका को इन सभी विश्वासघातों का बदला लेते हुए पाकिस्तान को अमेरिका की तरफ से मिलने वाली हर मदद को बंद कर देना चाहिए |

पाकिस्तान की वजह से भारत और अमेरिका के रिश्तों में आई है तल्खी –
बता दें कि टेड पो ने ‘द नेश्नल इंटरेस्ट मैग्जीन’ में जेम्स क्लाड के साथ संयुक्त रूप से एक आर्टिकल लिख पाकिस्तान के साथ अमेरिका के रिश्तों को पुनः परिभाषित किये जाने की मांग की है | आपको बता दें कि जेम्स भी अमेरिका के पूर्व राष्ट्रपति जार्ज डब्ल्यू बुश के समय में अमेरिका रक्षा विभाग के उप सहायक मंत्री भी रह चुके है | उन्होंने अपने आर्टिकल में तर्क देते हुए लिखा है कि अमेरिका ने पाकिस्तान को चाहे जितना भी बदलने का प्रयास किया हो लेकिन पाकिस्तान की हालत कभी नहीं बदली इसीलिए अब अमेरिका को भी अपने दखल की सीमा तय करना होगा | टेड और जेम्स ने अपने संयुक्त आर्टिकल में यह भी लिखा है कि अक्सर हमनें देखा है कि पाकिस्तान की ही वजह से भारत और अमेरिका के रिश्तों में भी खासी तल्खी आई है | इसीलिए अब हमें तत्काल पाकिस्तान का समर्थन और उसे मिलने वाली हर एक मदद को बंद कर देना चाहिए |

हिंदी समाचार- से जुड़े अन्य अपडेट लगातार प्राप्त करने के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज और आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं |

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY