नियम ताक पर रखकर वर्षों से तैनात एएनएम चला रही हैं क्लीनिक

0
80

रायबरेली(ब्यूरो)- प्रदेश सरकार द्वारा लोगों को बेहतर स्वास्थ्य सेवाएं उपलब्ध कराने की बात लगातार कही जा रही है । इसके लिए चिकित्सकों के खाली पडे पदों को जल्द ही भरकर दूर-दराज गांवों तक तैनाती दिए जाने की बात चल रही है । जनपद में स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी अभी भी पुराने ढर्रे पर हैं । कई सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्रों (सीएचसी) के अंतर्गत वर्षों से जमीं अप्रशिक्षित व अयोग्य एएनएम महिला रोगियों का धडल्ले से इलाज कर रही हैं और उनकी जान से खिलवाड कर रही हैं । विभागीय आला अधिकारी सेटिंग-गेटिंग के चलते मौन स्वीकृति दे रहे हैं । ऐसे में सरकार के स्वास्थ्य सेवाओं में सुधार के प्रयासों पर महकमे के अधिकारी ही पानी फेरते नजर आ रहे हैं ।

जनपद में स्थित अनेक सीएचसी पर रोगियों के साथ खिलवाड हो रहा है । काफी संख्या में ऐसी एएनएम हैं जो अस्पतालों में या अंतर्गत क्षेत्र में पन्द्रह से बीस वर्षों के लम्बे समय से तैनात हैं । खुलेआम गैरकानूनी तौर पर महिलाओं का इलाज कर रही हैं । कुछ एएनएम कस्बा क्षेत्र में धडल्ले से क्लीनिक चला रही हैं जहां उनके द्वारा हर तरह के नाजायज काम भी किए जा रहे हैं । ऐसे मुद्दों पर अक्सर अधिकारियों के पास शिकायतें पहुंचती रहती हैं लेकिन मोटी कमाई में हिस्सा लेने वाले जिम्मेदार अधिकारी दोषियों के विरूद्ध कार्रवाई करने से बचते हैं और शिकायतों को दबा देते हैं । जिससे महिला डाक्टरों के बजाए लोग एएनएमों से इलाज कराने को मजबूर हैं । उनकी मजबूरी का फायदा उठाकर एएनएम खून की जांचें-अल्ट्रासाउण्ड व मंहगी दवाइयां लिखकर सेंटरों से मोटी कमाई कर रही हैं और रोगियों का आर्थिक शोषण कर रही हैं ।

विभागीय सूत्रों की मानें तो जिम्मेदार अधिकारी एएनएम के विरुद्ध होने वाली शिकायतों पर कार्रवाई करने से घबराते हैं । उनका मानना है कि एक ही स्थान पर काफी वर्षों से कार्यरत महिला स्वास्थ्य कार्यकर्ता (एएनएम) की राजनैतिक पकड बडी मजबूत बन जाती है जिससे उनके खिलाफ कार्रवाई करना आसान नहीं रहता । हकीकत जो भी हो जनपद के विभिन्न अस्पतालों में हो रहे नियमविरुद्ध कामों से एएनएम-अधिकारी मालामाल हो रहे हैं और गरीब महिलाएं लुट रही हैं जिससे स्वास्थ्य सेवाओं के दुरुस्तीकरण का सपना फिलहाल आईसीयू में ही नजर आ रहा है । मामले में जब मुख्य चिकित्साधिकारी डॉ. डी के सिंह से बात की गई तो उन्होने बताया कि यदि कोई शिकायत मिली तो जांच कराकर कार्रवाई की जाएगी ।

रिपोर्ट- आशीष शुक्ला 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here