घर बचायेंगे विधानसभा जायेंगे” पूर्ण शराबबंदी की मांग को लेकर 8 मार्च को विधानसभा घेराव-ओमप्रकाश साहू

0
218

राजनांदगांव (छत्तीसगढ़ ब्यूरो)– प्रदेश में पूर्ण शराबबंदी के लिए समर्थन मांगने जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ (जे) के कार्यकर्ता महिलाओं की “गुलाबी टोली” के साथ मिलकर युवा जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ (j) प्रदेश सचिव ओमप्रकाश साहू के नेतृत्व में डोंगरगढ़ विधायक श्रीमति सरोजनी बंजारे के ठेलकडीह स्थानीय निवास के मिलने व् समर्थन के लिए पहुचे लेकिन उन्होंने अपने pso से कहा जा के कलेक्टर से जा कर मिले|

युवा प्रदेश सचिव ओमप्रकाश साहू ने कहा शराबबंदी पर समर्थन मांगने शांतिपूर्ण ढंग से डोंगरगढ़ के विधायक श्रीमती सरोजनी बंजारे से मिलने जा रहे जकांछ कार्यकर्ताओं से श्रीमति बंजारे ने मिलने से मना कर दिए और कहा जाकर कलेक्टर से मिलेको । जनता क्या समझे इसे ? क्या क्या विधयिका नहीं चाहती छग में शराबबंदी लागू हो? क्या यह लोकतंत्र है? अगर हमें विधायक या उनके प्रतिनिधि से मिलने दिया जाता तो उन्हें प्रतीकात्मक रूप से अपने क्षेत्र के लोगों को और समाज को सन्देश देने शराब की एक बोतल फोड़ने या उलटने का निवेदन भर किया जाता एवं धन्यवाद दिया जाता और अगर विधायक शराबबंदी के विरुद्ध हैं तो उन्हें गुलाबी टोली उन्हें एक शराब की बोतल विरोधस्वरूप भेंट कर देते जो अब उनके ठेलकडीह कार्यालय में रख दी हैं और अब विधायक सरोजनी बंजारे का नाम सोशल मीडिया आदि में सार्वजनिक जायेगा जो नहीं चाहते कि हमारे छत्तीसगढ़ में शराबबंदी हो।

युवा जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़(j) घुमका ब्लाक अध्यक्ष दिनेश पुराणिक ने कहा कि एक जनप्रतिनिधि जनता का प्रतिनिधि होता है, जब जनता शराबबंदी चाहती है तो जनप्रतिनिधि का ये कर्तव्य बनता है कि वो अपने क्षेत्र के हित और जनहित में शराबबंदी का समर्थन करे। दलगत निष्ठा से ऊपर उठकर, छत्तीसगढ़ की महिलाओं और युवाओं के हित में बहुसंख्य विधायक अगर एक हो जाएँ तो सरकार को मजबूरन शराबबंदी लागू करनी पड़ेगी।

छत्तीसगढ़ में शराबबंदी लागू करने की मांग को लेकर 8 मार्च अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस के दिन प्रदेश भर की महिलाएं एवं युवा विधानसभा का घेराव करेंगी। युवा जकांछ के डोंगरगढ़ ग्रामीण अध्यक्ष धनेंद्र भारती ने बताया कि “घर बचायेंगे, विधानसभा जायेंगे”अभियान के तहत प्रदेश की सभी महिलाएं विशेषकर वो महिलाएं जिनके घर शराब की वजह से बर्बाद हो रहे हैं वो अपना घर बचाने आगे आयेंगी और 8 मार्च अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस के दिन विधानसभा घेराव कर सरकार से शराबबंदी लागू करने की मांग करेंगी।

धनेंद्र भारती ने कहा कि सरकार को यह तय करना है कि सरकार को चार हज़ार करोड़ रुपये चाहिए या फिर ढाई करोड़ लोगों की दुआएं ? सरकार अगर छत्तीसगढ़ की महिलाओं की हितैषी है तो महिला दिवस के दिन इधर-उधर के कार्यक्रम और बेतुकी घोषणाएं करने के बजाय शराबबंदी लागू करने का आदेश निकाले। पहले अनपढ़ शराब बेचते थे अब पढे लिखें आईएएस शराब बेचेंगे।

आज के कार्यक्रम में प्रमुख रूप से सौरभ वैष्णव, राजेश महिलांग,मंगल दास मारकंडे,अज्जु भारती गुलापा बाई ठाकुर,कामता बाई ठाकुर,छबिलाल वर्मा ,शुभम वैष्णव,त्रिलोक भारती,तुलसी साहू,राजकुमार वर्मा,भागचंद बंजारे,रामदेव ठाकुर,पुष्पेन्द्र साहू,अनीस वर्मा,संतोष वर्मा आदि कार्यकर्त्ता उपस्थीत थे।

रिपोर्ट- हरदीप छाबड़ा
हिंदी समाचार- से जुड़े अन्य अपडेट लगातार प्राप्त करने के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज और आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here