ज़मीन के लिए दलित की ह्त्या करने वाले की जमानत अर्जी खारिज

0
75

(सुल्तानपुर ब्यूरो) : फोरलेन मुआवजे में मिली लाखों की रकम हड़पने के चक्कर में दलित की हत्या करने के आरोप में फसे प्रधान प्रतिनिधि की तरफ से स्पेशल जज एससी-एसटी एक्ट की अदालत में जमानत अर्जी पेश की गई। जिस पर सुनवाई के पश्चात स्पेशल जज जमाल मसूद अब्बासी ने आरोपी को राहत न देते हुए जमानत अर्जी खारिज कर दी।

मामला कोतवाली देहात थानाक्षेत्र के पन्नाटिकरी गांव का है। जहां की रहने वाली दलित हीरावती ने बीते वर्ष अगस्त माह में हुई घटना का जिक्र करते हुए मुकदमा दर्ज कराया। आरोप के मुताबिक उसके गांव के ही आरोपी प्रधान प्रतिनिधि संतोष जायसवाल, अलगू व सह आरोपी राजेन्द्र कुमार शुक्ल उफर् राजन ने मिलकर उसके पति को मिले 20 लाख रूपये मुआवजे की रकम हड़प ली और जहर देकर जान ले ली। इसी मामले में आरोपी अलगू व संतोष जायसवाल जेल भेजे गए। जबकि राजन शुक्ल के खिलाफ आरोपपत्र दाखिल हुआ है। इसी मामले में आरोपी संतोष जायसवाल की तरफ से स्पेशल जज एससी-एसटी एक्ट की अदालत में सुनवाई चली। इस दौरान बचाव पक्ष के अधिवक्ता अरविन्द सिंह ने अपने तर्कों को पेश करते हुए संतोष जायसवाल पर लगे आरोपों को निराधार बताया। वहीं अभियोजन अधिकारी आरके मिश्रा व शासकीय अधिवक्ता अब्दुल मोमीन ने अपराध को अत्यंत गम्भीरर बताते हुए जमानत पर विरोध जताया। तत्पश्चात स्पेशल जज जमाल मसूद अब्बासी ने आरोपी की जमानत अर्जी खारिज कर दी।

रिपोर्ट – संतोष यादव

हिंदी समाचार- से जुड़े अन्य अपडेट लगातार प्राप्त करने के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज और आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं |

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY