स्टील प्लांट में दो गुटों के बीच कब्जे की लड़ाई खूनी संघर्ष में बदल गई

0
111

जगदलपुर/छत्तीसगढ़(रा. ब्यूरो)- नगरनार में निर्माणाधीन स्टील प्लांट इलाके में ठेकेदारी व परिवहन पर एकाधिकार को लेकर गुरुवार शाम को मारकेल में दो गुटों के बीच कब्जे की लड़ाई खूनी संघर्ष में बदल गई।

खूटपदर के पास हुई इस झड़प के दौरान जमकर गोलिंयां दागी गईं। एक गोली विधायक संतोष बाफना के गार्ड के भाई बसंत कुमार सिंह नामक युवक की पीठ को चीरती हुई पार निकल गई। गोलियां चलते ही वहां भगदड़ मच गई, इसका फायदा उठाकर हमलावर फरार हो गए।

हाई प्रोफाइल मामला
मामला नगरनार टिप्पर संघ, बस्तर परिवहन संघ और टिप्पर ट्राली संघ के बीच वर्चस्व की लड़ाई का है। इसमें विधायक संतोष बाफना, बीपीएस के पूर्व अध्यक्ष व पीसीसी महासचिव मलकीत सिंह गैदू, सोनू सिंह भदौरिया का नाम आने से हाई प्रोफाइल हो गया है।

शहर में भी सनसनी फैल गई
रात नौ बजे के आसपास खूटपदर के पास गोलीबारी होने की वारदात से इस ग्रामीण इलाके के साथ ही शहर में भी सनसनी फैल गई। घायलों को लेकर उनके साथी जैसे ही अस्पताल पहुंंचे यहां अफरातफरी मच गई। बीस मिनट के भीतर ही विधायक बाफना और थोड़ी ही देर बाद मंत्री केदार कश्यप भी पहुंच गए। इस बीच घायलों के उपचार के लिए अस्पताल में डाक्टरों के साथ ही मेडीकल स्टाफ को झोंक दिया गया।

ऐसा रहा घटनाक्रम
नगरनार में गौण खनिज परिवहन काम को हथियाने को लेकर कई परिवहन ठेकेदार जोर आजमाइश कर रहे हैं। यहां तक कि परिवहन से जुड़े लोग एक दूसरे पर हावी होने के लिए रंगदारी तक वसूलने में लगे हुए हैं। बुधवार को इसी रंगदारी को लेकर दो गुटों में विवाद हो गया था।

वाहनों को बीच सड़क पर रोका गया
नगरनार पुलिस ने विवाद को सुलझाने गुरुवार शाम को दोनों पक्षों की बैठक करवाई थी। बैठक में सुलह हो जाने के बाद दोनों पक्ष के लोग वहां से वापस लौट गए। शहर वापसी के दौरान बीपीएस गुट आगे था, इनके पीछे बाफना से जुड़े लोग थे। इस बीच खूटपदर के पास उनकी वाहनों को बीच सड़क पर रोका गया।

इस बीच वहां गोलियां चलने लगी
तब तक किसी को अंदेशा नहीं था कि मामला खूनी रंग ले लेगा। वाहनों से जैसे ही लोग उतरने लगे वहां गाली-गलौज व धक्का- मुक्की होने लगी। इस बीच वहां गोलियां चलने लगी। गोली चलने से भगदड़ मच गई व कुछ ही देर में जिसे जहां जगह मिली वह उसी वाहन में सवार होकर भाग खड़े हुए।

प्रत्यक्षदर्शियों ने बताया
वाहनों को रोकने के बाद विरोधी गुट के एक आरोपी ने हवा में तीन गोलियां दागी। इसके बाद बसंत पर रिवाल्वर टिका दिया। रिवाल्वर टिकाने से घबराए बसंत ने भागने की कोशिश की उसी दौरान फायर कर दिया गया इससे एक गोली बसंत के पीठ को चीरते हुए निकल गई। इसके साथ ही कुछ अन्य लोग मारपीट में घायल हो गए।

डीआईजी- एसपी पहुंचे
अस्पताल में पहले एसपी शेख आरिफ पहुंचे थे। आधा घंटे बाद डीआईजी सुंदरराज पी भी पहुंचे। रात सवा ग्यारह बजे घायलों को हेलिकाप्टर से रायपुर में रवाना किया गया। एसपी ने घटना की पूरी जानकारी लेने के साथ ही पुलिस की चार टीमों को आरोपियों की धरपकड़ के लिए रवाना कर दिया।

ये हैं घायल
प्रतापगंज निवासी मनीष पारेख, बोधघाट निवासी बसंत कुमार, वृंदावन कालोनी निवासी सौरभ मंडल, शहीद गुंडाधुर वार्ड निवासी श्रीनिवास राव, धीरेंंद्र कुमार सिंह, शहीद गुंडाधुर वार्ड निवासी उमाशंकर, बोधघाट कालोनी निवासी वेंकट रमन्ना,

नामजद आरोपी
शक्ति सिंह चौहान, मलकीत सिंह, सोनू भदौरिया, राजीव शर्मा, हरविंदर सिंह पप्पू, उपेंद्र सिंह ू, रवि कश्यप, विक्रम कुशवाहा, बंटी सेंगर, अम्बरीश सिंह राजपूत, संजय मिश्रा, जयदीप सिंह भदौरिया, शेख जैनू के अलावा अन्य के खिलाफ नगरनार थाना में नामजद रिपाुेर्ट दर्ज की गई है। पुलिस ने इनके खिलाफ धारा 141, 443, 449, 341,307,294,506 बी 25 आम्र्स एक्ट के तहत मामला पंजीबद्ध किया है।

जल्द होगी गिरफ्तारी
पुलिस की चार टीमों को आरोपियेां की गिरफ्तारी के लिए लगाया गया है। जल्द ही वे पुलिस के चंगुल में होंगे।

शेख आरिफ, एसपी ।

रिपोर्ट-हरदीप छाबड़ा

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here