11 दिसंबर के बाद मंदिर पर होगा बड़ा एलान

0
37

अमेठी (ब्यूरो)- स्वामी राम भद्राचार्यजी ने कहा, ”केंद्र सरकार 6 दिसंबर को कुछ करना चाहती थी लेकिन आचार संहिता की वजह से नहीं कर पाई. मोदी जी धोखा नहीं दें, 11 दिसंबर के बाद कोई ना कोई निर्णय जरूर होगा. वो निर्णय अध्यादेश भी हो सकता है. सरकार के सीनियर मंत्री ने मुझे भरोसा दिलाया है” हालांकि, उस मंत्री का नाम खुलासा करने से मना कर दिया जिन्होंने उन्हें भरोसा दिया राम जन्मभूमि पर मंदिर निर्माण में हो रही देरी को लेकर वीएचपी ने आज अयोध्या में धर्मसभा का आयोजन किया है. वीएचपी ने तीखे तेवर दिखाते हुए कहा है कि राम मंदिर को लेकर ये आखिरी सभा है, इसके बाद कोई सभा या सम्मेलन नहीं होगा.

इस बीच चित्रकूट धाम के महाराज स्वामी राम भद्राचार्य ने राम मंदिर के निर्माण को लेकर बड़ा बयान दिया है. स्वामी राम भद्राचार्यज ने कहा कि 11 दिसंबर के बाद मोदी सरकार राम मंदिर पर बड़ा फैसला ले सकती हैंधर्म सभा के आयोजकों ने करीब तीन लाख राम भक्तों के आने का दावा किया है. वीएचपी का कहना है कि राम मंदिर पर यह हमारी आखिरी सभा है, इसके बाद और सभाएं या प्रदर्शन नहीं होंगे, सीधे राम मंदिर का निर्माण होगा.

उन्होंने बताया कि सभा में संतों के उद्बोधन का कार्यक्रम शाम 4 बजे तक चलेगा। सभा स्थल पर वीआईपी को छोड़कर सभी को 500 मीटर पैदल जाना पड़ेगा।वाहनों की कुल 15 पार्किंग स्थल बनाए गए हैं। कार्यक्रम में करीब 10 हजार बाइक, आठ हजार कार, छह हजार बसों से रामभक्त आएंगे। बाकी का आगमन ट्रेनों से हो रहा है । पूर्वी उत्तर प्रदेश के सभी प्रान्तो के रामभक्तों को जुटाने का लक्ष्य रखा गया है। सुरक्षा को चाक-चौबंद रखने के लिए अयोध्या को छावनी में तब्दील कर दिया गया है।

रविवार की सुबह से ही पूरे नगर में भारी संख्या में फोर्स तैनात के साथ धर्म सभा स्थल , वाहनों के पार्किंग स्थल पर सुरक्षा व्यवस्था में पुलिस जवान को लगाया गयासभा को मुख्य रूप से रामजन्मभूमि न्यास के अध्यक्ष महंत नृत्य गोपालदास, हरिद्वार के महंत सत्यनिष्ठा जी महाराज, चित्रकूट धाम के महंत श्री राम भद्राचार्य जी महाराज और विहिप के अंतरराष्ट्रीय महामंत्री चंपत राय सम्बोधित करेंगे।

विहिप की धर्माचार्यो की केंद्रीय मार्गदर्शक मंडल से जुड़े संत धर्माचार्यो की उपस्थिति बताया गया है। विहिप के अंतरराष्ट्रीय महामंत्री चम्पत राय ने रविवार को धर्म सभा के स्वागत स्थल पर हिन्दुस्थान समाचार को बताया कि सभा की शुरुआत सुबह 11 बजे होगी। जिसमें सबसे पहले एक घंटे तक संगीत कार्यक्रम होगा। दोपहर 12 बजे संतों व विहिप के पदाधिकारियों का उद्बोधन शुरू होगा।

रिपोर्ट- विक्रम भदौरिया

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here